डर आ समाधान – मानव जीवनक विलक्षण दर्शन

डर    मोन अछि? बच्चे सँ केना अपना सब केँ पहिने डर देखायल गेल आ फेर डर सँ बचबाक लेल बहादुरी सेहो सिखायल गेल? डर कय...

आब नहि त कहियो नहिः विद्यापति डीह पर राष्ट्रीय स्मारक प्रसंग काल्हि ५ दिसम्बर...

पैघ सपना पूरा होयबाक दिन थिक ५ दिसम्बर २०२० ग्लोबल मैथिल द्वारा महाकवि विद्यापतिक जन्मस्थली विस्फी मे राखल गेल कार्यक्रम जे काल्हि ५ दिसम्बर २०२०...

मानवीय एकजुटता केर मुख्य आधार आ मिथिला

हम सब एक छी हम सब मुमुक्षु मानव जाति केर लोक केवल मानव छी, मानवता हमरा सभक एकमात्र धर्म अछि। सब एक्के स्कूल केर छात्र,...

असल एजुकेटेड पॉलिटिशियन आ जनक समाजवाद: मनन योग्य विमर्श

असल पढ़ल लिखल राजनेता के (विमर्श लेल समर्पित एक लेख) अहाँक विचार आमंत्रित काल्हि एक महत्वपूर्ण वेबिनार में बिहार केर राजनीतिक स्थिति पर परिचर्चा के दरमियान भारतीय...

दुर्गा पूजा मनेबाक असल वजह आ लाभ

नवरात्र 2020 विशेष भवानी केर भवन में लागल भक्तक भीड़ किछु मनन योग्य बात के थिकीह दुर्गा, कि थिकैक दुर्गति (आध्यात्मिक स्वाध्याय)😊 मैया अर्थात सभक जननी, कहलो जाइत छन्हि...

विश्वसनीयता निर्माण मे बहुत समय लगैछ – टूटब त क्षण भरिक काज छी

आउ किछु चर्चा करी विश्वसनीयता निर्माण आ नोक्सान ऊपर   हाई स्कूल केर कक्षा १०वीं मे गामक आरो कतेको छात्रक संग एक राजकुमार बाबू सेहो छलाह।...

समाज मे गदहा नहि उड़यवला घोड़ा बनेबाक होड़ हो

झूठक प्रशंसा सँ गदहा टा बनैत अछि   ई अनुभव हम सब कियो जरूर करैत होयब जे प्रशंसा असली आ नकली दू प्रकार केर होइछ, असली...

कोना बनेबय दहेज मुक्त मिथिला

कोना बनत दहेज मुक्त मिथिला   दहेज प्रथा खराब छैक। दहेजक लेन-देन अबैध छैक। लेकिन समाजक अगुआ वर्ग एकरा जानि-बुझि अपनेने अछि। अपना केँ जे चलाक...

मातृभाषा मैथिली प्रति समर्पण आ सेवा केर १०० वर्ष पूर्ण

मातृभाषा लेल समर्पण केर १०० वर्ष मैथिली भाषा-साहित्यक इतिहास मे मातृभाषाक रूप मे मैथिलीक संरक्षण, संवर्धन आ प्रवर्धनक अभियान लगभग १९२० ई. मे शुरुआत भेल...

ओ नीक छलाह या अहाँ नीक छी – मंथन योग्य विषय

परम्पराक अगबे दोख देनाय कतेक उचित?   कखनहुँ-कखनहुँ हमरा दिमाग मे ईहो बात अबैत अछि जे अपन पुरुखाजनक परम्परा केँ हम सब सीधे गलत कहि बैेसैत...