इस्राइली प्रधानमंत्री बेन्जामिन नेतन्याहू द्वारा भारतीय समकक्षी मोदीक स्वागत हिन्दी संबोधन सँ

समाचारः साभार खबर एनडीटीवी – जुलाई ४, २०१७.

तेल अवीव/नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगल दिन तीन दिन केर ऐतिहासिक दौरा पर इस्राइल केर तेल अवीव पहुंचला. इस्राइल केर प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्‍याहू हुनक अगवानी हेतु एयरपोर्ट पर मौजूद रहलाह. एक विशेष स्वागत समारोह मे बेंजामिन नेतन्‍याहू और पीएम नरेंद्र मोदी काफी आपेकता सँ गला मिललनि. एहेन विशेष स्वागत समारोह केवल अमेरिकी राष्ट्रपति और पोप केर स्वागत लेल कएल जाएत छैक.

एहि समय इस्राइल केर प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्‍याहू कहला ‘हमर मित्र नरेंद्र मोदी केँ इस्राइल मे स्‍वागत अछि.’ ओ हिंदी में बजला, ‘आपका स्‍वागत है मेरे दोस्‍त’. पीएम नेतन्‍याहू कहलखिन, भारत हमर गहिंर मित्र थिक. पीएम नरेंद्र मोदी केर ई यात्रा ऐतिहासिक अछि. हम भारत और भारत केर संस्‍कृति केँ प्‍यार करैत छी. भारतीय और इस्राइली स्‍वाभाविक दोस्‍त थिक.

ओत्तहि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कहलखिन ‘ई हमर सौभाग्‍य छी जे हम इस्राइल आबयवला पहिल भारतीय प्रधानमंत्री छी. इस्राइल एला पर हमर एहेन भव्‍य स्‍वागत आर स्वयं हमर मित्र पीएम बेंजामिन नेतन्‍याहू केर एयरपोर्ट पर मौजूद रहबाक लेल धन्‍यवाद. हमर ई दौरा दुनू देशक मजबूत रिश्‍ताक प्रतीक थिक. भारत केर सभ्‍यता बहुत पुरान छैक, लेकिन हमर देश युवा अछि. हमर युवा शक्ति बदलाव केर ताकत छी’.

यथार्थतः कोनो भारतीय प्रधानमंत्रीक ई पहिल इस्राइल दौरा थिक. दुनू देशक द्विपक्षीय रिश्‍ता केर लेहाज़ सँ ई दौरा काफी अहम मानल जा रहल अछि, जाहि पर दुनियाभैर केर कतेको देशक नजैर टिकल छैक.

एहि दौरा मे पीएम मोदी अपन समकक्षी बेंजामिन नेतन्याहूक संग आतंकवाद जेहेन साझा चुनौती और आर्थिक संबंध केँ बढ़ावा देबाक तरीका सबपर चर्चा करता.

एहि सँ पहिने प्रधानमंत्री कार्यालय ट्वीट करैत कहने छल, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस्राइल के ऐतिहासिक दौरे के लिए रवाना. किसी भारतीय प्रधानमंत्री का पहला इस्राइल दौरा.”

एहि दौरा मे पीएम मोदी इस्राइल केर राष्ट्रपति रुवेन रुवी रिवलिन सँ सेहो भेंट करता. ओ १९१८ मे हेफाक मुक्तिक लेल अपने प्राण केर आहूति देनिहार भारतीय सैनिक सभक स्मारक पर श्रद्धांजलि अर्पित करता.

पीएम मोदी केर एहि दौराक दौरान भारत और इस्राइल केर राजनयिक संबंधक २५ वर्ष सेहो पूरा भऽ रहल छैक. पीएम मोदी ६ जुलाई धरि इस्राइल मे रहता. एकर बाद ओ जी-२० शिखर सम्मेलन मे हिस्सा लेबाक लेल जर्मनीक हैम्बर्ग जेता.