काठमांडू मे मैथिली मचान, भव्य शुरुआत

विजय कुमार झा, काठमांडू। जून २, २०१८. मैथिली जिन्दाबाद!!

भारतक राजधानी दिल्लीक विश्व पुस्तक मेला मे ‘मैथिली मचान’ केर भव्य सफलताक बाद आब नेपालक राजधानी काठमांडूक २२म अन्तर्राष्ट्रीय पुस्तक मेला मे सेहो भव्यतम् शुरुआत काल्हि १ जून शुक्र दिन सँ भृकुटी मण्डप केर बीबी-२८ नंबर स्टाल पर भऽ चुकल अछि। एकर उद्घाटन नेपालक प्रसिद्ध उद्योगपति डा. उपेन्द्र महतो द्वारा सुप्रसिद्ध विद्वान्-विश्लेषक डा. सी. के. लाल केर अध्यक्षता मे काल्हि संध्या ४ बजे भृकुटि मण्डप केर सभागार मे कयल गेल अछि। एहि अवसरपर काठमांडूक मैथिलीभाषी समाजक बहुत नीक उपस्थिति देखल गेल। तहिना एहि पुस्तक मेलाक पहिले दिन मैथिली पुस्तकक प्रेमीक अपार भीड़ स्टाल पर उमड़ल आ पहिले दिन लगभग १२ हजार टका मूल्यक पोथी कीनिकय आगामी ९ दिन मे पैछला सबटा रेकर्ड टूटि जेबाक संकेत भेटल।

मैथिली मचानक उद्घाटन करैत डा. उपेन्द्र महतो कहलनि जे अपन मातृभाषा आ मौलिकता केँ अपना मे आत्मसात कयला सँ आत्मबल प्राप्त होएत अछि, केहनो देश, काल आ परिस्थिति मे यैह निजता काज अबैत अछि। आजुक पीढी भले ग्लोबल स्तर पर बहुत दूर-दूर धरि पसैर गेल अछि लेकिन अपन निजत्व केँ सदिखन बचाकय रखबाक काज करत तखनहि ओकर पहिचान सुरक्षित रहि सकत। मैथिली मचान मैथिली भाषा-साहित्यक पोथीक बिक्री-प्रदर्शनी सँ ई काज सफलतापूर्वक कय रहल अछि, नेपालहु मे एकर सफलता लेल शुभकामना दैत छी। विद्वान् राजनीतिक विश्लेषक डा. सी. के. लाल मचानक आध्यात्मि परिभाषा केँ अपन चिर-परिचित शैली मे श्रोताक माँझ रखैत कहलनि जे जेना आम सनक महत्वपूर्ण फल फरलाक बाद लोक मचान बनाकय कलम-गाछीक रखबारि करैत अछि, जेना गाम-घर मे बिना कोनो आपसी भेदभाव आ विभेदक एकटा सार्वजनिक मचान बनाकय गामक हितचिन्तन आ कल्याणकारी योजना पर आमजन विमर्श करैत अछि, ठीक तहिना ई मैथिली मचान विश्वक एतेक महत्वपूर्ण भाषा-साहित्यक पोथीक संग अत्यन्त सारगर्भित विषय पर विमर्शक आयोजन करैत मचान लगबैत छथि, ताहू मे विश्व स्तरीय आयोजन धरि मैथिलीक पहुँच बना रहला अछि, एहि सँ समस्त मैथिलीभाषी-मिथिलावासी मे एकटा आत्मगौरवक सन्देश जा रहल अछि। आयोजक प्रति समर्थन, सहयोग आ संग रहबाक प्रतिबद्धताक संग ओ १० दिन मे बेसी सँ बेसी पोथी कीनि मैथिली भाषा-साहित्य-इतिहास पढल जेबाक काज होयत से अपेक्षा रखलनि। उद्घाटन सत्रक संचालन धीरेन्द्र प्रेमर्षि कयलन्हि।

संचालिका डा सविता झा खान द्वारा विशिष्ट अतिथिद्वय लोकनि केँ मचानक विशेष कैलेन्डर व दुती-वस्त्र भेंट करैत सभक सहयोग बनल रहबाक आह्वान कयलन्हि। तदोपरान्त मैथिली मचान पर सेहो एकटा सम-सामयिक विषय पर आरती झा, करुणा झा, डा. अखिलेश झा तथा रूपा झा संग विमर्शक कार्यक्रम राखल गेल। पहिले दिन लगभग १२ हजार टकाक पोथी कीनय मे सर्वाधिक संख्या युवा छात्र केर देखल गेल छल। आयोजन मे सहयोग लेल निराजन झा, ध्रुव झा तथा प्रवीण मिश्र सक्रिय देखेलाह। तहिना जनमानस मे सेहो काफी रास महत्वपूर्ण व्यक्तित्व महिला-पुरुषक उपस्थिति उत्साहवर्धक छल। मैथिली मचान सँ काफी किछु सीखबाक अवसर भेटत, बहुत किछु पढबाक लेल पोथी भेटत, ई अपेक्षा आगन्तुक लोकनि रखलन्हि।