उच्चैठ सँ मधुबनीक मिनी मैराथन ‘दहेज मुक्त मिथिला’ निर्माणार्थ भव्य आ सफल भेल

मधुबनी, जुलाई १०, २०१७. मैथिली जिन्दाबाद!!

‘दहेज मुक्त मिथिला लेल दौड़’ – उच्चैठ सँ मधुबनी समाहरणालय धरिक करीब ३२ किलोमीटर केर मिनी मैराथन आयोजन भव्यता संग सम्पन्न भेल। धावक आर के दीपक संग युवा धावक कौशल कुमार चौधरी सेहो एहि दौड़ मे शामिल भेलाह।

उच्चैठवासिनी भगवती केँ सम्पूर्ण धावक टोली जाहि मे बुढ, बच्चा, महिला सहित दहेज मुक्त मिथिलाक पदाधकारी आ अलग-अलग स्थान सँ पहुँचल समाजिक अभियंता सब शामिल छलाह से सब गोटे आशीर्वाद प्राप्त कय ऐतिहासिक – पर्यटकीय स्थल उच्चैठ सँ दौड़ प्रारम्भ कएने छलाह। एहि दौड़ केँ हरी झंडी देखा शुभारंभ करबाक लेल इलाकाक सुप्रसिद्ध आ अति-लोकप्रिय पुलिस पदाधिकारी डीएसपी निर्मली कुमारी आयल छलीह।

दौड़ केँ आरम्भ करय सँ पहिने परिचय सभा भेल जाहि मे दहेज मुक्त मिथिलाक एहि आयोजनक परिचयक संग-संग धावक टोली मे सम्मिलित विभिन्न धावक सभक परिचय उपस्थित जनमानस केँ देल गेल। आयोजन समितिक संयोजक एवम् दहेज मुक्त मिथिलाक महासचिव धर्मेन्द्र कुमार झा सभक परिचय करौने छलाह। तहिना दहेज मुक्त मिथिला संस्था, एकर अभियान आ वर्तमान मैराथन दौड़ जे विभिन्न चरण मे चलि रहल अछि ताहि पर विस्तार सँ संस्थाक अन्तर्राष्ट्रीय संयोजक प्रवीण नारायण चौधरी जनतब देने छलाह। संस्थाक तरफ सँ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवम् बिहारक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार केँ सेहो धन्यवाद ज्ञापन कएल गेल जे अपन कार्यकाल मे दहेज कूप्रथाक रोकथाम लेल कानून आ प्रशासन केँ सख्त बनेबाक बात कहलनि अछि।

उद्घाटनक अवसरपर डीएसपी निर्मला कुमारी अभियानक उद्देश्य आर एकर आवश्यकताक संग-संग प्रदेशक मुख्यमंत्रीक प्रबल इच्छाशक्ति सँ दहेज कूप्रथाक रोक लेल ई दौड़ बड पैघ सन्देश देबाक बात कहलनि। संगहि ओ ईहो कहली जे बिहार आर खासकय मिथिला अदौकाल सँ विश्व केँ सदिखन उचित मार्गदर्शन करबैत रहल अछि, एहि भूमिक ऐतिहासिकता मानव समुदाय लेल सब दिन प्रेरणा सँ भरल आ ऋषि-मुनि-ज्ञानीक निवास-स्थल रहल अछि। तेकरे निरन्तरता दैत देखा रहल अछि दहेज मुक्त मिथिलाक ई अनुपम प्रयास जे दौड़क माध्यम सँ आम जनमानस मे कूप्रथा विरुद्ध सबलता सँ संघर्ष करबाक सन्देश देल जा रहल अछि। ओ धावक संग अभियानक सफलता लेल भरपूर शुभकामना दैत स्वयं सेहो एहि दौड़ मे सहभागी बनि स्वयं केँ गौरवान्वित अनुभूति करबाक बात कहैत हरियर झंडा देखा दौड़ केर आरम्भ करबैत स्वयं सेहो किछु दूरी धरि दौड़मे भाग लेली। बिपरीत मौसमक बावजूत बर्खाक पानि मे ठाढ भऽ ओ उत्साही धावक टोली मे बच्चा, महिला आ युवा, वृद्ध सभक सहभागिता देखि काफी प्रसन्न सेहो भेलीह आर सब केँ खूब उत्साहवर्धन करैत अपन सहयोग सतति देबाक वचन देलनि। एहि अवसर पर डीएसपी निर्मला कुमारीक संग समाजसेवी एवं राजनीतिक कार्यकर्ता मो. शब्बीर अहमद, एडवोकेट ओम आदर्श, यशोदानंद मिश्र, अजय कुमार ‘बच्चेजी’ सहित मन्दिरक पूजारी देबू पंडाजी द्वारा संयुक्त रूप सँ धावक लोकनि केँ हरियर झंडा देखा दौड़ केर आरम्भ कएल गेल छल।

आयोजक दहेज मुक्त मिथिला द्वारा आयोजित मिनी मैराथन “रन फ़ॉर दहेज मुक्त मिथिला” उच्चैठ सँ जिला मुख्यालय तक सफलतापूर्वक संपन्न भेल । जगह-जगह नुक्कर सभाक कार्यक्रम मार्फत जनमानस मे दहेज कूप्रथाक अन्त करबाक लेल नारा आ वैचारिक संबोधन करैत दौड़ कार्यक्रम निरंतरता मे रहल। संयोजक धर्मेन्द्र कुमार झा मैथिली जिन्दाबाद संग अपन अनुभव शेयर करैत कहलनि जे जखन विचार पवित्र हो त साथ देनिहारक कमी नहि अछि दुनिया मे से एहि मैराथन दौड़ मे देखय लेल भेटि रहल अछि। रोडक दू-बगली ठाढ जनता आ स्कूली बाल-बालिकाक उत्साह देखय लायक छल। ई अभियान सभक लेल एकटा नव उम्मीद जगौलक जे कियो त दहेज कूप्रथाक विरुद्ध खुलिकय ठाढ भेल अछि। बेनीपट्टी स्थित एस एस ज्ञान भारती स्कूल केर छात्र एवं छात्रा द्वारा हाथ मे दहेज विरोधी नाराक पर्चा लेने मानव श्रृंखला सेहो बनल छल । स्कूलक लगभग २०० बच्चा सब धावक लोकनि केर हौसला बढेबाक लेल पहिने सँ रस्ता पर स्कूलक बाहर में ठाढ़ छलाह। स्कूलक तमाम शिक्षक लोकनि सेहो दहेज मुक्त मिथिला द्वारा चलाओल जा रहल अभियान केर मुक्त कंठ सँ प्रशंसा केलनि। जगह जगह लाउड स्पीकर केर माध्यम सँ टीम केर संयोजक प्रवीण नारायण चौधरी और हुनक संग विराटनगर नेपाल सँ आयल जयराम यादव यदुवंशी एवम अन्य लोकनि द्वारा सभा केँ संबोधन चलैत रहल। जगह-जगह लोक सभक द्वारा धावक समूह केर सम्मान कार्यक्रम सेहो चलैत रहल। ताहि क्रम मे धकजरी चौक पर सेहो एक नुक्कड़ सभा भेल जाहि मे जिला मुखिया संघ केर अध्यक्ष श्रीमान कृपा नंद आजाद जीक संग भेटल। अत्यधिक मिलनसार और समर्पित लोक श्री आज़ाद जी धकजरी सँ समापन समारोह संग देलनि। अरेड़ चौक पर सेहो सभा भेल अरेड़ निवासी श्री मनोज मिश्र एवं अन्य बुज़ुर्गक संबोधन मे दहेज मुक्त मिथिला केर विचारधाराक प्रति सम्मान देखल गेल।

धावक टीम मे आर के दीपक, कौशल कुमार चौधरी, आशीष, राजेश, बौआ झा, अंकित राय, विद्या भूषण राय, दीपक झा, रूबी दीपक, संग-संग बच्चा सभक उत्साह देखिते बनैत छल। रहिका में मिथिला धरोहर मंच केर और दहेज मुक्त मिथिलाक अभियानी आशीष मिश्र, रमेश रंजन एवं अन्य लोकनि संग भेलाह। आगाँ रिजनल सेकेंडरी स्कूल केर तमाम शिक्षक संगहि डायरेक्टर आर एस पांडे मुख्य धावक आर के दीपक व हुनक पत्नी रूबी दीपक सहित धावक टोलीक अन्य सदस्य सभ केर सम्मान मे उपस्थित रहलाह। एहि ठाम दहेज मुक्त मिथिलाक मार्गदर्शक व समर्थक संगहि दहेज मुक्त मणि सहित कुल ११ मणि-शृंखलाक लेखक स्रष्टा मणिकांत झा दरभंगा सँ आबि अपनहि नेतृत्व मे ई स्वागत सभाक आयोजन करौने छलाह, हुनका द्वारा दहेज मुक्त मणि केर काव्य पाठ करैत धावक ओ अभियान केँ समर्थन आ सहयोग प्रदान कएल गेल। सपत्नीक मणिकान्त झा, मैथिली साहित्यकार प्रीतम निषाद, प्रधानाध्यापक मनोज कुमार झा एवम् विद्यालय संचालक राम शृंगार पाण्डे द्वारा सम्मान सभा केँ संबोधन सेहो कएल गेल। अल्पाहार आ फूलक गुच्छाक संग समस्त टोलीक स्वागत सँ अभियान केँ काफी सबलता भेटल, यैह तरहक स्वैच्छिक सहयोग यथार्थतः सुच्चा अभियान सब केँ भेटैत रहबाक चाही, ई भावना सभाक संचालनक क्रम मे संयोजक प्रवीण नारायण चौधरी कहलनि। संगहि हरेक सभा मे कएल जा रहल मांग अनुरूप एतहु ई दोहरायल गेल जे हरेक गाम-पंचायत मे सब जाति, धर्म, समुदायक लोक केँ जोड़िकय ५ वा १० सदस्यीय निगरानी समितिक स्थापना करैत दहेज मुक्त मिथिला अभियान केँ गन्तव्य स्थल धरि पहुँचेबा मे सब कियो सहयोग करैथ। एहि सभा मे गुआहाटी सँ आयल प्रभाकर प्रवीण, मैथिल समाज रहिका केर सचिव सह कांग्रेस जिला अध्यक्ष शीतलाम्बर झा एवं अन्य लोकनिक जोरदार समर्थन भेटल। सब कियो अपन-अपन वक्तव्य मे दहेज मुक्त मिथिलाक कार्यशैली आ कार्यक्षमताक प्रशंसा कएलनि।

रहिकाक सभा धरि समय कनेक देर भऽ जेबाक कारण ११ बजे सँ निर्धारित सभास्थल सँ कतेको गणमान्य सज्जन लोकनि आबिकय वापस जेबाक दुखद समाचार सेहो प्राप्त भेल, तथापि रस्ताक खराबी, गर्मी, बरसात आ विभिन्न सभा मे लागल समयक कारण ई देरी होयब स्वाभाविके छल। तथापि धीरे-धीरे धावक आर के दीपक अपन टोलीक संग मधुबनी लेल प्रस्थान केलनि। धावक टोली लगभग २ घंटाक देरी सँ समाहरणालय पर पहुँचल। ओतय जिलाधिकारी श्री शीर्षत कपिल अशोक द्वारा मैराथन रनर दीपक संग-संग कार्यक्रमक आयोजक लोकनि केँ स्वागत एवम् सम्मान माला पहिराकय कएलनि। एहि अवसर पर साहित्यकार अजित आजाद, दिलीप झा, नमामि मिथिला फाउंडेशन केर संयोजक प्रभाष झा सेहो उपस्थित भेलाह। विभिन्न समाचारपत्रक पत्रकार लोकनि संग कनेकाल प्रेस वार्ता सेहो भेल। जिलाधिकारी दहेज मुक्त मिथिला द्वारा चलायल जा रहल अभियान केर प्रशंसा संगहि अनुरोध करैत कहलनि जे एहि तरहक कार्यक्रम निरंतर चलैत रहबाक चाही। मैराथन धावक आर के दीपक केर संग हुनक अति-वृद्ध दादा श्री राम सिंहासन मंडलजी केर सेहो सम्मानित कयल गेल।

अंत मे धावक संग समस्त अभियानीक टोलीक स्वागत सम्मान लेल समापन सभाक आयोजन वाटिका होटल – चभच्चा मोड़ पर राखल गेल छल। मिथिलाक प्रसिद्ध गायक पवन नारायण केर संगीत टोली द्वारा स्वागत-सम्मान समारोह मे सांस्कृतिक कार्यक्रमक आयोजन भेल। एतय आयोजित सभाक संचालन प्रसिद्ध लेखक-संचारकर्मी एवम् दहेज मुक्त मिथिलाक मार्गदर्शक अजित आजाद द्वारा कएल गेल। सभाध्यक्ष धावक दीपक केर वृद्ध पितामह राम सिंहासन मंडल कएलनि। जदयू जिलाध्यक्ष मो. कयूम, जदयू युवा नेता नीरज झा, धकजरी सँ निरन्तर संग दैत आबि रहला बहुचर्चित समाजसेवी एवम् नेता कृपानंद आज़ाद, काँग्रेस जिलाध्यक्ष शीतलाम्बर झा, एस. एस. ज्ञान भारती स्कूल केर डायरेक्टर अमरेश मिश्र, हिन्दुस्तान जोगबनीक संवाददाता बरुण मिश्र, मैथिली-मिथिला अभियानी जयराम यादव यदुवंशी सहित बहुतो रास सामाजिक अभियन्ता व आमजनक उपस्थिति छल। संयोजक प्रवीण नारायण चौधरी लिखित पोथी “प्राण हमर मिथिला” केर उपहार ‘टोकन अफ लव’ केर रूप मे धावक आर के दीपक-रूबी, कौशल कुमार चौधरी, शितलाम्बर झा, कृपानन्द आजाद एवम् अमरेश मिश्र केँ प्रदान कएल गेल। तहिना धावक लोकनि केँ सम्मान मे आयोजक समितिक तरफ सँ ट्राफी एवम् फूलक गुलदस्ता उपस्थित विशिष्ट अतिथि लोकनिक हाथे समर्पित कएल गेल।

समापन सभा मे मार्गदर्शक अजित आज़ाद केर प्रेरणा सँ शितलाम्बर झा द्वारा कपलेश्वरस्थान सँ कालीस्थान मधुबनी तक दहेज मुक्त मिथिला लेल पदयात्राक संकल्प लेल गेल जेकर निस्तुकी तारीखक घोषणा बाद मे करबाक निर्णय मंच सँ सुनायल गेल। स्वागत मन्तव्यक क्रम मे कार्यक्रम संयोजक धर्मेन्द्र कुमार झा एहि आयोजनक महत्वपर प्रकाश देबाक संग-संग समापन सभा मे किछु महत्वपूर्ण व्यक्तित्व सब आबिकय देरीक कारण घुरि जेबाक बात पर अफसोस व्यक्त करैत क्षमाप्रार्थना सेहो कएलनि। एतेक पैघ आयोजन केँ सफल बनाबय में श्री नारायण मिश्र, प्रवीण कुमार झा, रोशन भाई, रवि भाई, अजय कुमार झा, मुन्ना, सुमित झा एवं मुरारी झा केर अहम योगदान पर सेहो संयोजक धर्मेन्द्र कुमार झा विशेष धन्यवाद व्यक्त कएलनि।

दहेज मुक्त मिथिला लेल आर के दीपकक नेतृत्व मे दौड़ केर ई तेसर चरण छल। एहि सँ पूर्व बिरौल सँ कुशेश्वरस्थान (३० किलोमीटर), बिरौल सँ दरभंगा (६० किलोमीटर) केर दौड़ कएल जा चुकल अछि। धावक आर के दीपक प्रसन्नता व्यक्त करैत एहि दौड़ केँ ताबत समय धरि जारी रखबाक बात कहलनि जाबत धरि हुनक पिता स्व. टी. पी. निराला केर अधूरा सपना जे मिथिला समाज दहेज बन्द करय से पूरा नहि भऽ जायत। हुनक अर्धांगिनी एवं धावन कार्य मे समेत संग देनिहाइर रूबी दीपक कहली जे हुनका अपन पति आ हुनक संकल्प पर गर्व अछि, एहि शुभ कार्य मे ओ पतिक संग ओहिना चलैत रहय चाहैत छथि जेना राम केँ वनवास भेटलो पर सीता राजसुख त्यागि वनक कंटक मार्ग पर रामक संग चललीह। एहि आयोजनक मूल परिकल्पक आ अन्तर्राष्ट्रीय संयोजक प्रवीण नारायण चौधरी सभा केँ संबोधित करैत कहलनि जे एहि दौड़ सँ दहेज मुक्त मिथिलाक सपना केँ जमीन पर उतारबाक अवसर प्राप्त भेल अछि। युवा मे दहेजक विषय पर दौड़ लगबैत समाज केँ चौकन्ना कएल जेबाक अनुपम प्रेरणा संचारित भऽ रहल अछि। देखादेखी आब आरो युवा सब एहि मैराथन शृंखला मे सहभागिता देबय लगला अछि। आगाँ १५ अगस्त दरभंगाक कुर्सों सँ जिला मुख्यालय धरि करीब ६० किलोमीटर केर मैराथन कौशल कुमार चौधरीक नेतृत्व मे लगभग ५० युवा दौड़ लगेता। सहरसाक कारू खिरहरि सँ जिला मुख्यालय धरि ई जनजारण दौड़ लेल कुमार आशीष प्रतिबद्धता प्रकट कएलनि अछि। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार केँ धन्यवाद – ओ अटल नेतृत्व सँ समाज केँ नशा मुक्त बनौलनि, आगाँ ओ दहेज मुक्त प्रदेश आ देश बनौता से विश्वास अछि। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी केर विचार सँ प्रेरित भऽ हमहुँ सब ‘दहेज भगाउ – बेटी बचाउ’ नारा लगबैत दौड़ लगा रहल छी। एहि तेसर चरणक दौड़ मे जाहि तरहें एक सँ बढिकय एक वरिष्ठ सेनानी सब फेरो जागि गेला ई बहुत प्रभावित कय रहल अछि आर मधुबनी जिलामे पदयात्राक घोषणा आह्लादित करयवला अछि। सभाध्यक्ष राम सिंहासन मंडल आयोजक केँ धन्यवाद दैत वृद्धावस्था मे पर्यन्त युवा बनि जेबाक अनुभूति भेटबाक बात कहि सब केँ खूब आशीर्वाद देलनि आर विश्वास व्यक्त कएलनि जे दहेजक कूप्रथाक आब अन्त सुनिश्चित अछि। जाहि काज केँ पूरा करबाक भार युवावर्ग लय लेत ओ निश्चित पूरा करत।

संचालनक क्रम मे दहेज मुक्त मिथिलाक मार्गदर्शक अजित आजाद एहि तरहक दौड़ केँ गिनिज बुक अफ वर्ल्ड रेकर्ड मे शामिल करबाक मांग करैत तर्क देलनि जे एतेक दूरी धरि कोनो एक विषय पर दौड़ लगेबाक काज एहि सँ पूर्व कतहु नहि भेल अछि, अतः ई विश्व रेकर्ड मे प्रविष्टि पाबय ताहि लेल सेहो प्रयास करबाक चाही।

दौड़ केर आयोजन कएनिहार संयोजक धर्मेन्द्र कुमार झा केँ दहेज मुक्त मिथिलाक अन्तर्राष्ट्रीय संयोजक प्रवीण नारायण चौधरीक चिट्ठी जहिनाक तहिना राखल जा रहल अछिः

प्रिय दहेज मुक्त मिथिलाक महासचिव Dharmendra Kumar Jha​ – धर्मेन्द्र कुमार झा!

बहुत-बहुत आभार जे अभियान केँ सार्थक दिशा मे आगू बढेलहुँ, ओहि समस्त मित्रगण प्रवीण कुमार झा, नारायण जी व सब धावक – आयोजक मंडली मे एतेक नीक व्यवस्थापनक संग ‘दहेज मुक्त मिथिला लेल मैराथन दौड़’ केर तेसर चरण ‘उच्चैठ सँ मधबुनी’ केर कुल ३२ किलोमीटर धावन मार्ग मे बेजोड़ स्वागत, प्रोत्साहन सहित कार्यक्रम केँ पूरा करबा मे अहाँ सभक स्वच्छ हृदय आ सुन्दर विचार देखाएत रहल। बहुत नीकल लागल। थाकल छलहुँ, तैँ लिखय मे देरी भेल, मुदा हृदय सँ काल्हिये सऽ हजारों बेर ‘वाह जबान’ कहिकय आशीर्वाद दय चुकल छी हम धर्मेन्द्रजी अहाँ केँ जे एहि आयोजन लेल अहाँ भार ग्रहण कय सिद्ध कय देलियैक जे दहेज मुक्त मिथिला अभियान केँ अक्षरशः सही स्वरूप मे अहाँ बुझि सकल छी।

२०११ या २०१२ मे संभवतः चन्दन केर विवाह मे अहाँ संग पहिल बेर भेंट सौराठ सभागाछी मे भेल छल। तदोपरान्त कतेको बेर सदेह आ विदेह दुनू रूप मे हम सब भेटैत रहल छी। हमर दुर्गुण सब सँ परिचित रहितो सद्गुण मात्र केँ अहाँ सार्थक बुझि संग रहल छी, ई कम भारी बात नहि छैक। काल्हिक आयोजन लेल अहाँक बस एक मांग पर भगवती स्वयं सब व्यवस्था मिला देलनि। देखबे केलियैक सब बात, हमरा त हुनकर कृपा प्रत्यक्षे बुझाएत रहल अछि। तैँ कनी दुलारू बेटा जेकाँ बेसिये छिड़ियेबाक आदति अछि। मुदा मन मे कदापि कोनो पाप नहि आनि केवल जानकीदूत बनि जीवन जीबि लेब, वैह बहुत भेलैक, वैह मुख्य आर्जन सेहो भेलैक, हम एतबे बात बुझैत छी। अहाँ सच मे अपन समर्पण सँ भव्य आयोजन कएलहुँ आ एहि सँ बेसी किछु नहि कहब। किछु खर्च बेसी भेल – मुदा चिन्ताक बात नहि छैक। हम सब खर्च बचाकय मातृभूमिक सेवा करय चाहैत छी, कारण स्वयं मेहनतिक कमाइ सँ मात्र चारियो आना खर्च करैत छी अपना सब त सौंसे गाम-समाज सब काज करय लेल आतूर रहैत अछि। अहाँक बहुत खर्चा करय पड़ि गेल, एहि लेल हम कने चिन्तित भेलहुँ। आगाँ स कम बजट मे बेस्ट प्रोग्राम करबाक नियम पर चलू, फिजूलखर्च नहि चाही।

उच्चैठ भगवतीस्थान मे काल्हि सफीक भाइ व अन्य ग्रामीण लोकनि केर संग देखि हृदय गद्गद् छल। बिपरीत मौसम रहितो समय पर बेनीपट्टी डीएसपी साहिबा – निर्मला कुमारी आबिकय फ्लैग देखा दौड़ केर उद्घाटन भेल – ईहो बड़ा बुझू जे मोन खुश कय देलक। एतबा नहि! निर्मला कुमारी त भगवतिये केर रूप मे एतेक सहज आ सुन्दर भाषा सब कहिकय उत्साहवर्धन केलनि जेकर चर्चा करैत हम पुलकित भऽ रहल छी। ओ जे कहली कि “देखू संयोग, हमहुँ अहीं सब केर रंग मे रंगायल छी। हमहुँ ओहि रंगक टौप पहिरने छी जाहि रंग मे अहाँ सब कियो रंगायल छी।” वन्डरफूल! आर बाद मे त एहि देबीक एतेक गुणगान सब सुनलहुँ, एतेक पहिने सँ बुझल रहैत त पहिने हुनकर ओहि गुण-धर्म लेल हम सब हुनका सम्मान जरुर करितहुँ। खैर, आबो हमर मैसेज हुनका देबनि जे साक्षात् देवीक रूप मे हम हुनकर प्रशंसक बनि गेल छी। संग मे काँग्रेसक स्थानीय नेता सफीक भाइ (संभवतः) केर मैथिली सुनिकय मोन गद्गद् भऽ गेल छल। ओ अपन मिथिला लेल जैड़क नेता छथि, हुनकर उज्ज्वल भविष्य केर कामना।

रास्ता मे एस.एस. ज्ञान भारती विद्यालयक बच्चा सब जे मानव शृंखला बनौलक, शिक्षक लोकनि जे संग देलाह आर बाद मे स्वयं संस्थापक अमरेश बाबू जे मधुबनी सभा धरि संग देलनि ई सब बहुत पैघ आह्लादक विषय रहल।

बेनीपट्टीक कोन पोखरि लग जे आम जनमानस जाहि मे महिला समाजक आधिक्य रहल, ओह, सब किछु जानकीक अद्भुत चमत्कार सब देखबैत रहल। युवा बीजे विकास सेहो ओत्तहि पहुँचलाह आ अपन विचार सेहो रखलाह। बहुत सुन्दर – प्रतिभावान् युवा बुझेला। संग मे मिथिला स्टुडेन्ट युनियन केर अंकित आ डबलू केर सहभागिता सब दिन जबरदस्त रहबे कएल अछि। चारि गोट धावक जे मन्दिर लग सँ अहाँक गाम सँ संभवतः संग धेलनि, गज्जब शक्तिवान् सब बुझेलाह। नमन हुनका सबकेँ।

धकजरी मे मुखियाजी – मधुबनी मुखिया महासंघ केर अध्यक्ष कृपानन्द झा आजाद – सच मे एक आजाद विचारक अत्यन्त पवित्र आ बहादुर सज्जन छलाह। हुनकर संग आ विचार सब ठाम मददगार साबित भेल। रास्ताक मैनेजमेन्ट मे तत्क्षण प्रभावकारी भूमिका निर्वाह करैत रहलाह। आदरणीय मनोज मिश्र समान आदर्श व्यक्तित्व केँ अरेड़ मे जोड़ि देलनि, हम हुनका सम्मानित कय केँ अपना केँ सम्मानित मानि रहल छी। ताहू सँ पहिने विष्णु चौक अरेड़ पर आम जनताक संग करीब १ घंटा सतुआ पिबैत – धावक लोकनि विश्राम करैत सभा चलल। ओतय एक उर्जावान् युवा ‘हाथी’ टाइटिलधारी भेटलाह आ निगरानी समिति संचालन केर भार ग्रहण केलाह। पूरा समाज उलैटकय आबि गेल। खूब बहस चलय लागल। दहेज लोभी मुर्दाबाद केर नारा आम जनमानस लगाबय लागल। काफी रोमांचक छल ई सभा। आर फेर अरेड़ मुख्य चौक पड़का सभा, मनोज बाबूक संबोधन…. सब किछु विलक्षण।

रहिका केर मुख्य चौक पर सेहो एकटा सभा हेबाक छल। मुदा रस्ता कोन जायब, पोखरौनी मे आनन्दजी केँ इन्तजार करौने रही ताहि देने आ कि सीधे… कनी एहि कन्फ्युजन मे आ मुख्य सड़क जाम होयबाक डर सँ आखिरकार रहिका मे सभा नहि भेल। पोखरौनी दिशि जायवला मार्ग मे पानि जमल रहबाक कारणे धावक सब केँ परेशानी होएतनि, आखिर रस्ता से एतय स चेन्ज करय पड़ि गेल। लेकिन जे भेल से खूब नीक भेल। आदरणीय मणिकान्त बाबू केर नेतृत्व मे तत्क्षण एकटा स्वागत समारोह रिजनल सेकेन्ड्री स्कूल – सप्ता मे भेल। जाहि ठाम एक दोसर मनोज बाबू स्कूल प्रधानाध्यापक व स्वयं विज्ञ सर्वज्ञ संस्थापक श्री राम शृंगार पाण्डे संग भेंटघांट – फेर स्कूल केर फाटकहि पर सभाक आयोजन, दहेज मुक्त मणि केर उपहार भेटब, स्वयं मणिकान्त बाबू द्वारा दहेज मुक्त मणि मे खुद मैराथन दौड़ २ जे बिरौल सँ दरभंगा धरि भेल छल तेकर एक रचना जे आशुकवि बनि समापन समारोह मे मणिकान्त सर प्रस्तुत कएने छलाह… आर फेर काल्हिक ओ हृदयस्पर्शी रचनाक लयबद्ध प्रस्तुति – हृदय पर राज कय रहल अछि आइयो। हम त बादो मे मणिकान्त सर केँ ताकि रहल छलहुँ जे सभा समापन मे संग दितैथ… प्रीतम निषाद कविजी संग भेंट – बहुत अद्भुत रहल।

अरेड़ सँ निकैलते आशीष मिश्र भाइ एक आरो सहयोगी मित्रक संग बूलेट राजा बनिकय एला। रस्ता देखेबाक काज सेहो कएलनि। युवा सब जखन संग भेट गेल त फेर बुझू जे हमहुँ जबान युवा बनि जाएत छी। फेर गुआहाटी सँ पहुँचल छलाह प्रभाकर जी – नमामि मिथिला फाउन्डेशन केर संचालक प्रभाष भाइ आ संग मे एक सहयोगी सज्जन…. कतेक लोक तँ लेट होयबाक कारण चलि जाय गेलाह। लेकिन ठठल रहला शुभ नारायण जी। संयोग कतेक नीक छल जे रस्ते मे भेट गेलाह दिलीप भैया, जानकी पुस्तक केन्द्र पर कतेक आगत-भागत भेल। आदरणीय अजित भाइ केर तरफ सँ ठंढा पेय केर व्यवस्था – महोमहो भऽ गेल मधुबनी मे काल्हि। आर फेर कलेक्ट्रियेट पर स्वयं डी एम साहेब एला स्वागत आ सम्मान करबाक लेल धावक व अभियानी सब केँ – व्यवस्था त ए-१ छल धर्मेन्द्रजी। अहाँक कतेक प्रशंसा करू – बस अहाँ अपने जेकाँ आरो १० गो अभियन्ता सदा-सदा लेल दहेज मुक्त मिथिला केँ प्रदान कय केँ काल्हि कार्यक्रम केँ सूपर-डूपर हिट कय देलहुँ।

भाइ पवन नारायण केर ओ विलक्षण सुर आ साज मे गायल दहेज विरोधक आवाज – सारा सभागार सन्न रहि गेल। जदयू जिलाध्यक्ष कयूम भाइ, जदयू नेता नीरज झा…. कमो समय मे बड नीक-नीक बात कहिकय संतोष देलनि। हुनकर नेता नीतीश जी केँ निश्चिते सम्मान बढि गेल अछि जे ओ समाज केँ दहेज मुक्त करबाक सपना देखेलनि अछि, दहेज मुक्त मिथिलाक स्वच्छ अभियान मे सहयोग पहुँचेलनि अछि। आर तेकर बाद, आदरणीय शितलाम्बर बाबूक आगमन, हुनकर परिचय, हुनकर प्रस्तुति – अमरेश बाबूक परिचय-प्रस्तुति, कृपानन्द आजाद सर केर सविस्तार प्रस्तुति – सब किछु हृदय जीत लेलक। आर अजित भाइ केर संचालन त पहिनहि सँ हृदय पर राज करिते अछि। काल्हि कतेक कम समय मे सब बात केँ बुझि आयोजन मे संग देलनि ई एकटा आरो अविस्मरणीय उदाहरण ठाढ कय देलक धर्मेन्द्रजी – अजित भाइ हमरा लेल सदैव मार्गदर्शक केर भूमिका कएलनि अछि। जे सपना देखलहुँ तेकरा पूरा करय मे ओ यथार्थ ‘नारायण’ केर भूमिका निभाबैत रहला अछि। एहने-एहने स्रष्टाक बदौलत हम कोनो काज करबाक हिम्मत करैत छी।

आर के दीपक, कौशल चौधरी, बौआ झा, आशीष, रूबी, बौआ-बुच्ची आ सबसँ अधिक खास काल्हि रनिंग केर छल जे एकटा ५० वर्षक आसपासक चाचीजी सेहो दौड़ लगेलीह…. ९५ वर्षक वृद्ध श्री राम सिंहासन मंडल जी केर उपस्थिति सभाध्यक्षक रूप मे कतेक आनन्द देलक से स्वयं सोचि सकैत छी। भैगना गौरव समौल सँ आयल। काल्हि त बुझू जे गर्दमिशान भऽ गेल। एम्हर हमरा संग देलैन बरुण मिश्र, हिन्दुस्तानक वरिष्ठ पत्रकार जोगबनी सँ – भाइ जयराम यादव यदुवंशी जनकपुर सँ आ चारूकात सोशल मीडिया सँ लाखों-लाख लोक अहाँक कएल हिम्मत केर गवाही बनि गेला। ८ जूलाई बीत चुकल अछि। हम समय पर घर लौटि गेल रही, काल्हिये बेटी भावनाक जन्मदिन से छल…. ओहो मनेलहुँ। हर तरहें आब प्रसन्न छी जे सोचल डेग चला गेल। जिन्दाबाद भऽ गेल। उम्मीद अछि जे अहाँ सेहो हरारत सँ आजाद भेल होयब। ई पढि लेलाक बाद हमरा तरफ सँ एक बेर कखनहु समय निकालि माँ उच्चैठवासिणी केँ लंकेसर फूलक माला जँ उपलब्ध हो त से – या नहि त अरहुलक माला जरुर चढा देबनि।

आभार,

अहाँक सहयात्री,

प्रवीण

हरिः हरः!!