प्रथम अटल मिथिला सम्मान समारोहपूर्वक बाँटल गेल

348

प्रथम “अटल मिथिला सम्मान-२०१६” हस्तांतरण समारोह दिल्ली मे सम्पन भेल

– श्रीचन्द कामत, दिल्ली। अगस्त 10, 2016. मैथिली जिन्दाबाद।

received_1017968341592186हर्षक संग सूचित करब जे आजुक संध्या ” हिन्द पोस्ट मीडिया ” केर प्रस्तुति “अटल मिथिला सम्मान-२०१६” दिल्लीक पंचसितारा होटल “ली मेरिडियन” मे हर्षोल्लास सँग सफलतापूर्वक सम्पन्न भेल। एही सुंदर आयोजनक लेल कर्मठ मैथिल पुत्र प्रदीप झा, पंकज झा सहित समस्त कार्यकर्ताकेँ शुभकामना संग बधाई ! हिन्द पोस्ट मासिक पत्रिका द्वारा, पाँच सितारा होटल ली मेरेडियन मे आयोजित अटल मिथिला सम्मान में पार्श्व गायक पद्म भुषण उदित नारायण झा जी, डिप्टी कमांडेंट अश्वनी झा जी , मुकेश सहनी जी , कवियित्रि शेफालिका वर्मा जी , सुलभ शौचालय के संस्थापक विंदेश्वरी पाठक जी , सुप्रसिद्ध गायिका पद्मश्री शारदा सिन्हा जी , सांसद पप्पू यादव जी , सांसद रंजीता रंजन जी , प्रसिद्ध मंच उद्घोषक कमलाकांत झा जी , मैथिली पंचांगक सर्वेसर्वा रामचन्द्र झा जी आदि लोकनि के केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह , रामकृपाल यादव जी , उपेंद्र कुशवाहा जी , सांसद राजीव शुक्ला जी के साथ स “ पहिल अटल मिथिला सम्मान” स सम्मानित कायल गेलईन । कार्यक्रम के सफल संचालन हेतु “ भाई किशलय कृष्ण जी, ऋचा अनिरुद्ध जी आ जान्वी जी के बहुत बहुत शुभ कामना । किश्लय कृष्ण जीक दमदार आवाज समारोह में समा बांधि देने छल । जान्वी जीक मधुर आवाज मंत्रमुग्ध क देने छल । कार्यक्रम के विधिवत शुरुआत कोकिल कंठ मिथिला के लता श्री मती शारदा सिन्हा जी केर भगवती गीत” जय जय भैरवी असुर भयामिनी” सँ भेल जाहि में सभागार में उपस्थिति सब कियो ठाड़ भ सम्मान पूर्वक गीत के आनंद उठेलाह। कार्यक्रम के संयोजक भाई दीपक झा आर हिन्द पोस्ट मिडिया के तमाम सदस्य लोकनि के हृदय सँ बहुत बहुत धन्यबाद। कार्यक्रम के रुपरेखा नीक रखने छलाह। दिल्ली एनसीआर में बिसरि गेल अप्पन मातृभाषा के साथ मिथिलाक संस्कृति के हेतु संजीवनी जेकाँ काज कय रहल अछि। पहिल बेर गिरिराज सिंह के सुनलहुँ आ सेहो मैथिली में, मोन गदगद भ गेल। कहलनि जे भाषा आ संस्कृति एक दोसर के बिना जीवित नहि रहि सकैए? भाषा के जँ सम्मान नै देबS तखन संस्कारी नै भ सकै छी आ अहूँ के सम्मान कतौ नै भेटत?

फेर सांसद रंजीता रंजन , पप्पू यादव अपन विचार रखलथि जेना कि नेता भूत आ भविष्य भ जायत अछि मुदा किछु नेता अतेक प्रभावशाली होयत अछि जे भारत के लेल सदिखन वर्तमान में रहैत अछि आ अटल जी ओहि में सँ एक युगपुरुष छथि। हिनकर विचार सदिखन जनमानस हेतु प्रेरणास्त्रोत रहल अछि आ भविष्य में सेहो हम सब लाभान्वित होयत रहब। सुलभ शौचालय के संस्थापक श्री विंदेश्वर पाठक जी अपन स्वच्छ भारत हेतु अटल जी के योगदान सँग एनजीओ के हाथ प्रधानमंत्री बनलाक बादो पुरस्कार ग्रहण कएलाह जखन कि सम्बंधित अधिकारी हिनका प्रोटोकॉल के बात कहि मना कय रहल छलाह। अटल जी मुदा अपन नामे जेकाँ अपन बात पर अटल रहैत छलाह तें वो सर्वप्रिय नेता कहल जाएत अछि। देश के नव निर्माण में अटल जीक योगदान सराहनीय थिक। प्रभात झा जी सेहो मैथिली के अनुराग सँग मिथिलाक विकास में अटल जीक योगदान के रखलाह कि अटल जी कुन तरहे मैथिली के अष्टम सूचि राखि सम्मान देलाह ? मिथिला सँ हिनकर प्रेम प्रगाढ़ छलनि।
कार्यक्रम में वक्ता लोकनिक खूब जमाबड़ा छल मुदा दीदी शेफालिका वर्मा जी बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात जी सँ सोझे सोझ पुछि देलखिन कि एखन केन्द्र में अपनेक सरकार अछि संगहि अहाँ स्वयं मैथिली मिथिला के अनुरागी छी फेर “मिथिला राज्य पुनर्स्थापना” हेतु आगू बढ़ि किएक नै सरकार के समक्ष प्रस्ताव राखय छी? संगही सहरसा के लेल एम्सक मांग रखलि। अंत में उदित नारायण जीक “ पापा कहते हैं बड़ा नाम करेगा “ आ दोसरों गीतक प्रस्तुति देलनि ।