दिल्ली मे यज्ञपुरूष भोला झा एवं नोएडा मे महाकवि विद्यापति केर स्मृति पर नीरज पाठकजीक संस्मरण

दिल्ली मे भोला झा स्मृति कार्यक्रम आ नोएडाक विद्यापति स्मृति पर्वक आयोजन सँ चमत्कृत छी

– नीरज पाठक

मनुख अपन काज सँ, कृति सँ, जनसेवाक संकल्प सँ, धार्मिक प्रवृत्ति सँ, सदाचार सँ अमरत्त्वक वरदान पबैत अछि। कबीर कहैत छथि आ उचिते कहैत छथि:

“कबिरा जब हम पैदा लिए जग हंसें हम रोये।
कबिरा ऐसा कर मरो हम हंसे जग रोये।”

आ एहने व्यक्तित्व छलाह मिथिलाक एक गाम घोघरडीहा मे स्वर्गीय भोला झा जिनका समस्त इलाका केर लोक सिनेह आ सम्मान सँ भोला बाबू कहैत छ्ल। एक मास पहिने भोला बाबू एहि नश्वर काया केँ त्यागि अनन्त मे विलीन भ गेलाह। हुनक मृत्यु सँग ओ अपन काज आ यश सँ अमर भ गेलाह। के नहि कानल।

अग्रज डॉ कैलाश कुमार मिश्र सँ ज्ञात भेल जे बाबू समस्त गामक बेटी केँ अपन बेटी मनैत छलाह। बिबाह मे सब तरहक मदति बिना कोनो जाति वर्गक भेदभाव केँ करैत छलाह; एक जीप सदति हुनक दरबज्जा पर समाजक सरोकार लेल रहैत छलनि, माता पिताक नाम पर एक स्कूलक निर्माण कए समस्त क्षेत्रक लोकक बच्चा केँ शिक्षित करबाक पुण्य काज केने छलाह, लोक केँ स्नान ध्यान मे कोनो दिक्कत नहि हो ताहिलेल पोखरिक निर्माण कएलनि, एहेन यज्ञ केलाह जाहि मे 2500 पण्डित आ 2000 गामक लोकक जुटान भेल। सब राति 400 किलो चाउरक भात आ भोर मे फलाहारक व्यवस्था आ अतेक पैघ भीड़क सञ्चालन हुनकेँ सँ सम्भव छ्ल। बात छोट ठामक पैघ बात छ्ल। यशक चिनगारी बी बी सी तक पहुंच गेलैक। भोला बाबू देखैत देखैत यज्ञपुरुष भोला झा भ’ गेलाह। कहियो कोनो राजनीतिक पार्टी मे नहि गेलाह। मुखिया भेलाह, मुनिसिपलिटी के चेयरमैन भेलाह। अपन छोट सनसारक फुलवारी केँ सींचैत रहलाह। मंदिर, दुर्गापूजा आ नहि जानि की की करैत रहलाह। 

ओ कतेक पैघ आदर्श पुरुष छलाह तकर प्रमाण काल्हि अर्थात 16 दिसंबर 2018 केँ दिल्लीक राजेन्द्र भवन मे भेटल समस्त मिथिलाक लोक सँ हाल भरल छ्ल। हुनक नामक चर्चा सबतरि भ रहल छल। आ ओहि मे हुनक परिवारक कियोक नहि छ्ल। अर्थ ई जे समस्त समाज केँ भोला बाबू अपन परिवार बना लेने छलाह। हुनका नाम पर दिल्ली मे रहैत सात गणमान्य व्यक्ति केँ जे अपन सेवा प्रवासी मैथिल समाज लेल दने छथि केँ सम्मानित कएल गेल। ओहि मे दिल्लीक पूर्व सचिव श्री एस एन झा केँ सम्मान हमरा हाथे कराओल गेल। ई हमरा लेल बहुत गर्वक समय छ्ल।

एहि कार्यक्रमक मुख्य अतिथि लोकसभा सांसद श्री तारिक अनवर, लोकसभा सांसद झंझारपुर श्री वीरेंद्र चौधरी, विधान पार्षद मधुबनी श्री सुमन महासेठ, पूर्व सांसद महाबल मिश्रा, सँग हमहुँ रही ।

कार्यक्रमक समय विद्वाण डॉ कैलाश कुमार मिश्र स्व. भोला बाबूक व्यक्तित्व आ कृति पर अपन मत बहुत फ़रिछा क रखलनि। कविता, आ गीतक कार्यक्रम सेहो रहैक।

कार्यक्रमक आयोजक श्री ललित कुमार झा एवं संयोजक श्री सरोज झा एवं माया एनजीओ के अध्यक्ष श्री तपन झा छलाह।

एहि उत्सवक जतेक वर्णन करी से कम। हमरा त भेल जे जेना जन जन मे भोला बाबू बसल होथि। भोला बाबू केँ विनम्र श्रद्धांजलि।

दोसर कार्यक्रम नोएडा मे विद्यापति स्मृति पर्व छ्ल। ओहि कार्यक्रम मे माननीय सांसद आ संस्कृति मंत्री डॉ महेश शर्मा स्वयं अपना हाथें हमरा सन सामान्य लोक केँ सम्मानित केलाह। एहि क्षण केँ कोना क सहेजी!

मैथिली संस्कृति केँ दिल्ली आ राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र मे पसरैत आ विकसित होइत देखैत छी त हृदयक पोर पोर प्रफुल्लित भ जाइत अछि।

सब आयोजक लोकनि केँ बधाई …..

(लेखक नीरज पाठक दिल्ली सरकार अधीनस्थ मैथिली भोजपुरी अकादमीक उपाध्यक्ष छथि। अपन फेसबुक स्टेटस मार्फत उपरोक्त विचार रखलनि अछि।)