एक दिश अश्लीलता हँटेबाक मांग आ दोसर दिश लोक-समाजक अपन अलगे जिद्द

अश्लीलता मुक्त मिथिला
 
आइ भोरे उठलहुँ तऽ Avinash Jha Nunu – अविनाश भाइ एकटा फोटो मे टैग कएने रहथि। ओ फोटो एक बेर एतय राखि रहल छी।
 
४-दिवसीय यात्राक अभियान लेल सोचल गेल छल, स्थिति दोसरे देखलहुँ। स्थिति ई कहैत अछि जे ‘फेसबुक’ पर ई सब लिखि-सोचि लेलहुँ त सामाजिक दायित्व पूरा भऽ गेल। हँ, त यैह सहज छैक। बेकार बेसी आतूर भेला सँ कि फायदा…. कोनो एक कलाकार केर पक्ष राखब जखन प्रिय मित्र आ भाइ सब केँ ई सन्देह मे आनि देलक जे ‘प्रवीण नारायण’ अश्लीलताक समर्थन कयलनि, हुनकर सब पोस्ट आ फेसबुक लाइव आदि खुलेआम ‘बाजारवाद’, ‘अर्थतंत्र’, ‘आधुनिकता’ आदिक मांग कय ‘अश्लीलता’क समर्थन कय रहल अछि… तखन बेकार रिस्क लय केँ कि लाभ। गान्डीव राखि देल, या पटैक देल सय्ह बुझू। पटैक देला सँ जँ ‘नीक लोक’ केर श्रेणी भेटय त बेवकूफी कियैक करब।
 
लेकिन ई फोटो एहि लेल पोस्ट करैत छी जे एक बेर अपने सब धरातलीय स्थिति आ आयोजक लोकनिक मनस्थिति एहि पोस्ट सँ बुझि सकैत छी। ओना हमरा ईहो सन्देह अछि जे कियो ‘पिताम्बर झा’ नाम सँ ‘फेक आइडी’ बनाकय एहि तरहक बात कहबाक दुःसाहस कएने हेता। असली आइडी रहितय ई फोटो पोस्ट एखनहुँ धरि कायम राखि अपन स्थिति साफ करितथि। लेकिन बुझाइयऽ ‘उचक्का समिति’क ‘फतवा’ सँ हमरे जेकाँ हुनको मे थरथरी पैसि गेलनि। बस, फेके आइडी सही….. लेकिन अहाँ सब केँ ई सोचय लेल जरूर बाध्य करत जे ‘आयोजन कयनिहार’ कोना चन्दा सँ इकट्ठा कयल पैसाक सदुपयोग करय चाहि रहल अछि, आर यैह यथार्थ स्थिति सब तैर रहैत छैक। कहाँ दिना लाउडस्पीकर सँ प्रचार कय देल जाइत छैक आब महिला-बेटी-बहिन सब केर कार्यक्रम समाप्त भेल, रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम मे हुनका लोकनिक उपस्थिति बन्धित अछि। आब ओतय खुलेआम…. होयत!
 
हँ, तखन फेरो एहि पोस्टक अर्थ किनको जँ ई लागि जाय जे हम अश्लीलताक समर्थन कय रहल छी त क्षमा करब… तेहेन कोनो बात नहि छैक। श्लीलताक बहुत रास अभ्यास जारी अछि आर ‘नव विकल्प’ मे ‘सांस्कृतिक-धार्मिक झाँकी’ आदिक तैयारीक संग दिल्ली सँ प्रशिक्षित मैथिली सांस्कृतिक टोलीक समाचार प्रवीण सोनू भाइ पठौलनि अछि जे किछु समय बाद अपने सब धरि मैथिली जिन्दाबाद पर प्रकाशित कयल जायत। अस्तु! मनन करैत रहब। अश्लीलताक विरुद्ध लड़ाई कनेक कठिनाह तऽ छैक, लेकिन हमरा उम्मीद अछि जे फेसबुक सँ अपना केँ पोच्छल-पाच्छल आ सुसंस्कृत देखाबय लेल बहुतो लोक जरूर अभियान मे संग देबैक।
 
हरिः हरः!!