“महापुरुष”

669

बेबी झा।                                   

आई एकटा महान व्यक्ति के व्यक्तित्व के संदर्भ में अहां सबकें किछु कहै जा रहल छी |

ओना त हमरा बहुत एहन व्यक्ति भेटला जे हमरा आगु बढबाक लेल प्रेरित केलाह | हुनका सब गुरुजन के सादर प्रणाम🙏🙏 मुदा , एखन किछु दिन पहीने जे महान व्यक्ति हम्मरा अप्पन आशीर्वाद स ओतप्रोत करैत एलाह ओ महान व्यक्ति छथि श्री शारदानंद झा (बाबा) जे भागलपुर में सिविल इंजीनियर स रिटायर छथि | जिनकर विद्वता के आगु में पद छोटे रहनि | हुनका लगभग सब विषय पर पकड छैन |

ओना त ओ मूल निवासी चकफतेहा के छथि | मुदा, हम्मर सासुर चकफतेहा बाढि के कारण पुनर्वासित अछि आ जखन सरकार द्वारा घडारी भेटय लागल ओहि समय जे व्यक्ति गाम में अनुपस्थित रहथि हुनका घड़ारी नहि भेटि सकलनि |ते बाबा ( शारदानंद झा) अनुपस्थित रहथि ते हुनको नहि भेटलनि |

2018 में ओ बहुत दिनक बाद किनको घरवास में दुनु प्राणी चकफतेहा अयलाह | जहि क्रम में हमरो दलान पर अयलाह | हुनका हम्मर सबहक सान्निध्य नीक लागय लगलनि से सबदिन हमरे आंगन में सुतथि आ भोरे उठला पर हम्मर बेटी हुनका नहेबाक लेल पानि चला दैन आ जे आवश्यक टहल होईत अछि सब क दैन |ओकरा स बहुत बातचीत करय लगलाह पढाई के बारे में सेहो बहुत किछ पुछलखिन |ओकर बाद हमरा सब स ओकर पढाई के आगु के प्लान पुछलाह |ओहि समय में ओ मैट्रिक पास केनहे रहय | हम सब कहलियैन एखन त ओहन नहि किछु सोचने छी |

दस दिन रहलाक बाद जखन भागलपुर जाय के भेलनि तखन तक हम्मर सबहक एतेक लग आबि गेलथि जकर वर्णन नहि | आब दुनु प्राणी एकदम जिद्द पकरि लेलथि जे बचिया के हमरा संग पढबाक लेल जाई दीऔ | हमसब हुनका आश्वासन द दजलियैन जे ठीक छै किछु दिन में सोचै छी | आब त ओ सब, सबदिन फोन करय लगलाह कहिया द जाईत छ | हमसब हुनकर प्रेम भरल आग्रह के टारि नहि सकलहु आ बेटी के पहुचा देलथि भागलपुर | ओ सब एतेक संसकार आ पढाई में जागुरुकता देखेलथि जे हमरा लेल अनमोल अछि | पोती – पोती हुनकर मुंह के आधार बनि गेल |हरदम संस्कृत के कोनो श्लोक कखनो अंग्रेजी ग्रामर हरदम ओकरा बात, बात में पढबैत छलाह |
ओकरा पढबा में कनीको बेरुखी हुनका बर्दाश्त नहि | एतेक माननाय एतेक आशीर्वाद जे कतबो कही त कम अछि | हरदम कहैत छथि जे – जी जायब त पोती के कन्यादान हमही करब | हम्मर बेटी के त बाबा में प्राण बसैत अछि |

विगत किछु दिन स दिल्ली अप्पन बेटा लग छथि | नित्यदिन हमरा सब स फोन स संपर्क | एक दिन हुनकर फोन नहि आयल त , अन्देशा होमय लागल | तखन पता चलल जे कोरोना भय गेल छनि | यद्यपि बेटा एतेक नीक छथिन जे पहीने स आक्सीजन के व्यवस्था केने छथिन | पुरा देखभाल भ रहल छनि | हम्मर पतिदेव संकल्प लय हुनकर स्वास्थ्य सुधारक लेल पूजापाठ केलथि | पता नहि भगवती के जे इच्छा | मुदा, हुनकर स्नेह आशीर्वाद हमरा सबहक लेल बहुमूल्य उपहार अछि जे जीवन में कहीयो नहि बिसरब
एकटा हमरे नहि , ओ अप्पन जीवन में कतेको के आर्थिक आ मानसिक रूप स मदद केलैथ | एहन कतेक लोक छैथ जे हुनका बाबुजी कहि पुकारैत छथि | हुनका लेल # वसुधैव कुटुम्बकम # छैन |

ओहि महान व्यक्ति के करबद्ध सादर नमन् ( बाबा) अपने यथाशीघ्र स्वास्थ्य होई बाऱंबार भगवती स प्राथर्ना जे हमरा सब पर आशीर्वादक छत्रछाया बनल रहय 🙏🙏