तिरंगा मे छुपल सार्थक संदेश के कथमपि नै बिसरी

379

 

लेख

प्रेषित : ममता झा

लेखनी के धार में अई बेर के विषय अछि-:
#गणतंत्र_दिवसक_महत्व
सब सौं पहिने तऽ हम भारतीय छी, तें हमरा सब मे भारतीयता के गुण जे होइछ आदर सेवा भाव सभ्यता संस्कृति सबके अपनेबाक चाही कारण अहिए सब सओं भारत देश महान अछि।
गणतंत्र दिवस पर किछ विशेष संदेश हेतु हम अप्पन जानकरी के अनुसार लिख रहल छी।
26 जनवरी गणतंत्र दिवस, 15अगस्त आ 2अक्टूबर के हमसब राष्ट्रीय पर्व मनाबैत छी। हम्मर राष्ट्रीय ध्वज मे तीन रंग आ बीच मे चक्र संदेश दैत अछि कि श्वेत रंग सत्य आ शान्ति के प्रतीक छी । केसरिया वीरता आ साहस के, हरियर रंग हरित धरा  आ सम्पन्नता स भरल भारतक प्रतीक अछि ।चक्र कहैत अछि चौबिसो घंटा साकारात्मक सोचू आ निरंतर आगू बढ़ैत रहू।एतेक जे संदेश भरल जे अछि तिरंगा मे ओ हमसब नई बिसरी ताहि लेल सब साल फहराबैत छी।

26 जनवरी 1930 सऽ पहिने 15 अगस्त 1947 आजादी भेट तक, 26 जनवरी कऽ स्वतंत्रता दिवस मनैल जाइत छल। चूंकि 26 जनवरी 1930 के भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस भारत के पूर्ण स्वराज घोषित कैल गेल छल।ताहि लक आई के दिन के महत्ता बनल रहै ताहि लेल 26 जनवरी 1949 के दिन तैयार संविधान आर 26 जनवरी 1950 के भारत सरकार के अधिनियम, 1935 के जगह भारत के संविधान शुरूआत कर के संग लोकतांत्रिक, संप्रभु ,गणतंत्र देश घोषित कर के लेल 26 जनवरी के गणतंत्र दिवस घोषित कैल गेल।तहिया सऽ गणतंत्र. दिवस राष्ट्रीय पर्व के रुप में मनैल जाइत अई। एकर अलावा स्वतंत्रता दिवस आर गाँधी जयंती राष्ट्रीय पर्व के रुप में मनैल जाइत अछि।
अई बेर हमसब मिलकऽ 75 वाँ गणतंत्र दिवस मना रहल छी।
गणतन्त्र के आशय अछि कि अप्पन देश के सरकार राजा नई होइत अई। दुनियां में 206 संप्रभु देश में 135 देश रिपब्लिक यानी गणतंत्र शब्द व्यवहार में आनई छैथ।
गणतंत्र दिवसक पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति राष्ट के संबोधित करैत छैथ। संगे संग संवैधानिक प्रमुख होब के नाते राजपथ पर 26 जनवरी कऽ राष्ट्रीय ध्वज फहराबैत छैथ। परेड सं सलामी देल जायत अछि ।राष्ट्रक राजधानी मे परेड निकालल जाईत अछि। ई मनोरम दृश्य देखबाक लेल देश के कोना कोना सऽ लोग राजधानी आबैत छैथ । राष्ट्रपति के सवारी बड्ड शान स निकालल जाईत अछि।अन्य विविध, भव्य आयोजन, कार्यक्रम होईत अछि ।राजधानी दिल्ली के नब वधू  जकाँ सजैल जाईत अछि
एतबे नई देशक बाहर दोसरो देश  मे भारतीय दूतावास आ भारतीय लोक सब  गणतंत्र दिवस के भव्य ढंग सं उत्सव मनबै  जैत  छथि ।विभिन्न तरहक कार्यक्रम आयोजित कैल जाइत अछि ।गणतंत्र दिवस सब भारतवासीक लेल विशेष गर्वक अनुभूति कराब वाला पवित्र राष्ट्रीय पावनि छी ।