जेकरे नाम गुलाबछड़ी सैह चलि आबय – से आबि गेल जनकपुर साहित्य कला तथा नाट्य महोत्सव

जनकपुरधाम, ४ जनवरी २०२४ । मैथिली जिन्दाबाद!!

जनकपुर लिटरेचर आर्ट एन्ड ड्रामा फेस्टिवल – मचत धमगिज्जर पाँच दिन धरि

मैथिली विकास कोष जनकपुर द्वारा प्रत्येक दुइ वर्ष मे कयल जायवला मैथिली भाषा, साहित्य, संस्कृति, रंगकर्म व समग्र मिथिला सभ्यताक संरक्षण-संवर्धन-प्रवर्धन निमित्त मेगा इवेन्ट “जनकपुर साहित्य कला तथा नाट्य महोत्सव’ १ फरवरी २०२४ सँ ५ फरवरी २०२४ धरि आयोजित कयल जायत। ई जानकारी कोष द्वारा करायल गेल अछि। संगहि महोत्सवक तैयारी एकदम जोर पर अछि, मूल समितिक गठन सँ लैत विभिन्न प्रभागक संयोजक लोकनि केँ मनोनयन पत्र हस्तान्तरित कयल जा चुकल अछि। सामाजिक संजाल मे एक मास पूर्वहि सँ उपरोक्त महोत्सव जेकरा अंग्रेजी भाषा मे सेहो नामित करैत Janakpur Literature Art & Drama Festival कहल गेल अछि, एकरे चर्चा जहाँ-तहाँ देखाय लागल अछि। देखेनाय स्वभाविके कहि सकैत छी, एहि तरहक उच्चस्तरीय आयोजन मैथिली-मिथिला लेल प्राचीन मिथिला आ वर्तमान मधेश प्रदेशक राजधानी जनकपुरे टा मे सम्भव भ’ पबैत अछि। आयोजक मैथिली विकास कोष आ एकर परिकल्पक विज्ञजन सब धन्यवादक पात्र मानल जाइत छथि। परिकल्पनाकार सब मे बेसी गोटे मैथिली-मिथिलाक पुरोधा लोकनि मानल जाइत छथि, चाहे अध्यक्ष जिबनाथ चौधरी होइथ, सदस्य सचिव श्यामसुन्दर शशि होइथ, संस्थापक आ विभिन्न परिकल्पनाक परिकल्पक प्राज्ञ रमेश रंजन झा होइथ, प्राज्ञ धीरेन्द्र प्रेमर्षि होइथ – एहि वर्ष सँ त संयोजन व परामर्श मे किसलय कृष्ण व विभिन्न व्यक्तित्व सब सँ सेहो समुचित परामर्श करैत महोत्सवक भकरार स्वरूपक परिकल्पना कयल गेल अछि। मैथिली जिन्दाबाद दिश सँ एहि विशाल आयोजनक सफलता लेल अग्रिम शुभकामना!!

राष्ट्रीय समाचार समिति द्वारा सम्प्रेषित समाचार मे आयोजनक विस्तृत स्वरूप पर चर्चा निम्न अछिः

मैथिली भाषा, साहित्य, कला, संस्कृति, अर्थ आ पर्यटन प्रवर्धन लेल जनकपुरधाम मे “जनकपुर साहित्य कला तथा नाट्य महोत्सव २०८०’क आयोजन कयल जायत।

मैथिली विकास कोषक बुध दिनक बैसार द्वारा माघ १८ गते सँ २२ गते धरि होयवला जनकपुर साहित्य कला तथा नाट्य महोत्सव आयोजन करबाक निर्णय भेल अछि । महोत्सव जनकपुरधामक महेन्द्र नारायण निधि मिथिला सांस्कृतिक केन्द्र मे होयत ।

पाँच दिन धरि चलयवला महोत्सव केँ बीस टा सत्र मे विभाजित कयल जेबाक जनयब मैथिली विकास कोषक अध्यक्ष जिबनाथ चौधरी देलनि । महोत्सव मे राजनीतिक, सामाजिक, साहित्यिक आ आर्थिक विषय सबपर विमर्श हेबाक बात कोषक अध्यक्ष चौधरी करौलनि ।

महोत्सव मे नेपाल आ भारतक कलाकार द्वारा विभिन्न शीर्षकक नाटक प्रदर्शन कयल जेबाक कार्यक्रम सेहो अछि । मैथिली, नेपाली, हिन्दी, आसामी आ बंगाली सहित कुल पाँच गोट भाषा मे नाटक प्रदर्शन होयत अध्यक्ष चौधरी कहलनि । ताहि लेल सब नाट्यकर्मी समूह सब केँ आमन्त्रण कयल जा चुकल बात सेहो ओ बतेलनि ।

कोष द्वारा समस्त राजनीति दलक राष्ट्रिय अध्यक्ष आ दोसर वरियताक नेता सब केँ सेहो आमन्त्रण कयल जेबाक जनतब ओ देलनि अछि । महोत्सव मे मिथिला चित्रकला, पुस्तक, नाटक, मिथिलाक भोजनक विभिन्न परिकारक प्रदर्शनी आ सांस्कृतिक कार्यक्रम सेहो होयत ।

नेपाल आ भारतक विद्वान्, विदुषी, सामाजिक अभियन्ता, रङ्गकर्मी तथा राजनीतिकर्मीक सहभागिता रहयवला एहि महोत्सव मे संघीयता, भाषानीति, साहित्यक विभिन्न विधा तथा समाजक वर्तमान अवस्था प्रति मन्थन होयबाक बात कोषक अध्यक्ष चौधरी बतेलनि ।

कोषक सदस्य सचिव श्यामसुन्दर शशी कहलनि जे महोत्सव अवधि भरि करीब २१ टा विमर्श सत्र मे जनकपुर गाथा अन्तर्गत जनकपुरधामक निर्माता सब पर विशेष विमर्श राखल गेल अछि, मिथिला साहित्य, कला, एहि ठामक सफल महिलाक सफतलाक कथा प्रस्तुति, युवा सभक अवस्था सहितक विभिन्न विषय सबपर विमर्श होयबाक बात ओ बतेलनि ।

प्रदेश सरकार स्थापना भेलाक बादो मधेस प्रदेश सरकार एखन धरि अपन कामकाजक भाषा तय नहि कय सकल अछि । सम्बन्धित सम्पूर्ण व्यक्तित्व सब केँ राखिकय प्रदेशक कामकाजक भाषा तय करबाक प्रतिबद्धता जनेबाक प्रयास कयल जेबाक तथ्य सेहो सदस्य सचिव शशि उजागर कयलनि ।

कोष द्वारा प्रत्येक दुइ वर्षक अन्तराल मे आयोजन कयल जाइत रहल महोत्सव २०७३ साल सँ निरन्तर होइत आबि रहल अछि । महोत्सव केँ मधेस प्रदेश सरकार आ जनकपुरधाम उपमहानगरपालिका द्वारा आर्थिक सहयोग कयल गेल अछि ।

महोत्सव केँ भव्य आ सभ्य रूप मे मनेबाक लेल विगत मङ्सिर १९ गते कार्यकारिणी समितिक बैसक कयकेँ कोषक अध्यक्ष चौधरीक अध्यक्षता मे एक हजार एक सदस्यीय मूल समारोह समिति गठन कयल गेल अछि । जाहिमे जनकपुरधाम मे सामाजिक संस्था-संगठनक प्रतिनिधि, राजनीतिक दल केर प्रतिनिधि, युवा, व्यवसायी, पत्रकार तथा नागरिक सामाजक अगुवा सभक समावेश कयल गेल अछि ।

महोत्सव मे नेपाल आ भारत सहित करीब एक लाख दर्शक सहभागी होयबाक कोषक अनुमान छैक । तहिना, महोत्सव मे एहि बेर सांस्कृतिक कार्यक्रम मे प्रस्तुतिक लेल चर्चित गायक गायिका केँ आमन्त्रण कयल जेबाक जनतब सेहो देल गेल अछि ।