“स्वतंत्रता आंदोलनमे मिथिलाक भूमिका।”

159

— आशीष अकिंचन। 

मधुबनी जिला जे मिथिला के गढ मानल जाईत अछि, स्वतंत्रता प्राप्तिक आंदोलन मे अपन अहम योगदान देने छल। एहि क्रम मे हमर नानाजी स्व० पं तेजकांत झाक किछु साक्षात सुनायल स्मरणित याद जे हमरा सँ साझा कय गेल छथि अपने सभहक समक्ष राखि रहल छी। सौऊंसे देश मे स्वतंत्रताक लेल आंदोलन छिड़ल छल।नवयुवक सभ टोली बना-बनाकय अपन सामर्थ्य अनुसार अंगेजक विरुद्ध लड़ि रहल छल।हमर नानाजीक विवाह भले रहनि।नानी हमर मधुरा(तमारिया टीशन)के नमहर खानदानक ओहि जमानाक पढल- लिखल महिला रहैईथ।नानाजी आोहि दिन मधुबनी कोर्ट मे मुखतारी करैईत छलाह।गाम सेहो लगे मे (भवानीपूर,उग्रनाथ महदेव स्थान) छलन्हि।नानीक पिता आ भाई सभ स्वतंत्रता सेनानी छलथि।नानाजी कतेको बेर अंग्रेजी सरकारक विरूद्ध ओकर ट्रेन लुटनाई,पटरी उखारनाई जाहि सँ ओकर यातायात अवरूद्ध होय आ ओकरा पड़ देश छोड़बाक दवाब बनय ताहि लेल सक्रिय रहैईत छलाह।हिनकर सभहक नेतृत्व पं हरिनाथ मिश्र,पं ललितनारायण मिश्र सभ करैईत छलाह।स्वतंत्रता आंदोलन मे मिथिलाक अहम योगदान छल कारण हिनका सभके दरभंगा महराज सँ लड़ाईयक लेल फंडिग होयत छल।लुक आऊट नोटिस जारी कय देल गेल छल।मुख्तारी सेहो छोड़य पड़लन्हि।भागि कखनो अपन तँ कखनों आनों के घर मे नुकाईत रहैईत छलाह,मुदा दू बेर पकड़ैयवो कयलाह तँ दरभंगा आ आन-आन जेल मे राखल गेलाह।कखनो छह महिना तँ कखनो साल भरि जेलक सजा काटि बाहर निकललाह।मिथिला के हर क्षेत्र के सेनानी सभ जेल मे गेलाह।अंतत:देश आजाद भेल।फेर मधुबनी मे रहि अपन मुख्तारि करैय लगलाह।राजनीतिक कोनो महत्वाकांक्षा नहि रहैईन तैं आजाद भारत मे राजनितिक रूप सँ राजनिति सँ दूर रहलाह।जखन की हिनकर मीत जिनका संगे ई छलाह ओ सभ नेता बनि नीक -नीक मंत्री बनलाह।ललितबाबू कहने रहथिन मधुबनी सँ चुनाव लड़ैईक लेल मुदा तत्काल ठुकरा देने
छलाह,पारिवारिक वयस्तताक कारण।किछु दिवस बाद ललितबाबूक बमकांड मे हत्या भेल आ ओ समाचार सुनि विक्षिप्त भ गेलाह।तहिया सँ परिवार बिलटय लागल।तीन पुत्र आ चारि पुत्रीक भरल पुरल परिवार के छोड़ि बौऊवाय लगलाह।एक बेर मिथिला के सगरो स्वतंत्रता सेनानी सभ के प्रधानमंत्री (स्व०इंदिरा गांधी) दिल्ली बजेने छल ताम्र पत्र दय सम्मानित करैक लेल।कहुना बड़का मामा स्व०रत्न कुमार झा (साहित्यकार)हुनका दिल्ली लय गेलाह आ सम्मानित भय लौटलाह।हुनके द्वारा सद्यह मिथिलाक स्वतंत्रता आंदोलनी के आंदोलन के बारे मे बुझलहुं,जे मिथिला स्वतंत्रताक आंदोलन मे अपन कतेक योगदान देने छल।
जय हिंद जय भारत जय मिथिला
🙏💐🇮🇳💐🙏
@आशीष अकिंचन
दड़िभंगा बिहार ।