“सामाजिक आ सांस्कृतिक बाधा तोड़ि स्वतंत्रता संग्राममे ई वीरांगना सभ महत्वपूर्ण योगदान देलनि”

168

— भावेश चौधरी।       

भारतक स्वतंत्रता संग्राम मे महिलाक सहभागिता महत्वपूर्ण आ दूरगामी छल । विभिन्न पृष्ठभूमि आर क्षेत्र के महिला सेनानी ब्रिटिश उपनिवेशवाद के खिलाफ विरोध प्रदर्शन, बहिष्कार, आ अन्य तरह के अहिंसक प्रतिरोध में सक्रिय रूप स भाग लेलथ। ई लोकनि महत्वपूर्ण सहायक भूमिका सेहो निभैलथि, जेना कि नर्स आ एक्टिविस्ट के रूप में । सामाजिक आ सांस्कृतिक बाधा के सामना केला के बादो ई महिला सब भारत के स्वतंत्रता के लेल लड़य आ अपन आवाज सुनाबय लेल दृढ़ संकल्पित छलीह.

एकटा उल्लेखनीय महिला स्वतंत्रता सेनानी छलीह सरोजनी नायडू, जे भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के नेता छलीह आ 1925 मे कांग्रेस के पहिल महिला अध्यक्ष बनलीह!ओ एकटा कुशल वक्ता आ लेखिका छलीह! हुनकर भाषण आ लेखन बहुत भारतीय के स्वतंत्रता संग्राम में शामिल होबइ लेल प्रेरित केलक।
नायडू असहयोग आन्दोलन मे सेहो सक्रिय भूमिका निभेने छली आ एहि आन्दोलन मे सहभागिता लेल ब्रिटिश सरकार द्वारा कतेको बेर जेल मे बंद कएल गेल छल ।
एकटा आओर प्रमुख हस्ती छलीह मराठा शासित झांसी राज्यक रानी रानी लक्ष्मीबाई | ओ 1857 के भारतीय विद्रोह में अपनऽ भूमिका लेल जानलऽ जाय छैथ। अंग्रेज के खिलाफ अपनऽ सेना के नेतृत्व आर प्रतिरोध के प्रतीक बनली । रानी लक्ष्मीबाई के बहादुरी आ नेतृत्व दोसर महिला के स्वतंत्रता संग्राम में शामिल होबय लेल प्रेरित केलक।
अवध के राजा के पत्नी बेगम हजरत महल सेहो एकटा प्रमुख महिला स्वतंत्रता सेनानी छलीह,जे 1857 के विद्रोह के नेतृत्व केने छलीह। जखन हुनकर पति के अंग्रेज द्वारा निर्वासित क देल गेल छल आ ओ राज्य के जिम्मा लेलनि आ भयंकर लड़ाई लड़लनि मुदा अंत में पराजित भ गेलीह ।
एकरऽ अलावा अरुणा असफ अली, एनी बेसंट, विजयलक्ष्मी पंडित, आरो बहुत रास महिला विरोध प्रदर्शन के आयोजन केली।विभिन्न आर्थिक आर सामाजिक सहायता प्रदान करैत,स्वतंत्रता मुद्दा के प्रति जागरूकता फैलाबैत भारतीय स्वतंत्रता आन्दोलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभैलथ ।
ई महिला सब के संग संग बहुतो महिला सब प्रतिकूलता के सामना करैत अदम्य साहस आर दृढ़ संकल्प के प्रदर्शन केलनि । सामाजिक आ सांस्कृतिक बाधा तोड़ि भारतीय स्वतंत्रता संग्राम मे महत्वपूर्ण योगदान देलनि । हुनकऽ योगदान के भारत केऽ इतिहास केऽ एकटा महत्वपूर्ण अंग के रूप में स्वीकार करी क॑ मनाबै के चाही ।
ई बात ध्यान देबा जरूरी छै कि ई प्रमुख हस्ती सब के भले ही जानलऽ जाय छैन, लेकिन स्वतंत्रता संग्राम में महत्वपूर्ण भूमिका निभाबै वाला अन्य अनगिनत महिला सेहो छेली, जेकरऽ दस्तावेजीकरण शायद ओतबा बढ़िया स नै भ सकल । हुनकऽ योगदान के सेहो याद करलऽ जाय आर मनाबै के चाही, क्याकि भारत केऽ आजादी केऽ लड़ाई में हुनको ओतबे महत्व छेलैन ।