कञ्चनवनमें भव्य होरीक आयोजन;मिथिला माध्यमिकी परिक्रमा(फ़ोटो फीचर)

मनीष कर्ण ,जनकपुरधाम ४ मार्च,२०२२। मैथिली जिन्दाबाद!!मिथिलाक ऐतिहासिक, धार्मिक महत्व रहल मिथिला माध्यमिकी परिक्रमा आई कञ्चनवन पहुँचल अछि।धनुषा जिलाक कचुरी मठ स’ मिथिलाबिहारीकेँ डोला तहिनाअग्निकुण्ड स’ किशोरी जीक डोला क्रमशः कल्याणेश्वरस्थान, फुलहर(गिरिजा स्थान),मठिहानी, जलेश्वर, मड़ई, ध्रुवकुण्ड होइत आई कञ्चनवन पहुँचल अछि। कञ्चनवन ओ जगह अछि जतय राघवेंद्र सरकार आ पराम्बा जानकी जीक बीच होली खेलल गेल छल।मिथिला परिक्रमामें सेहो साधुसन्त आ महात्मा सभ होली खेलाइत अछि।आजुक दिन स’ होरीक औपचारिक रूप सँ सुरूवात होइत अछि। मिथिला माध्यमिकी परिक्रमा नेपाल आ भारतक कुल १३९ किलोमीटर दूरी नेपालक १०३ किलोमीटर आ भारतक २६ किलोमीटर केर दुरी तय करति परिक्रमा सम्पन्न होइत अछि।हजारों कए संख्यामे रहल साधुसन्त,गृहस्थ, नरनारी सभ एक दोसर सँग रङ्ग अबिर लगा’ प्रभु संकीर्तनमे आपने आपके आस्था भक्तिमय बना लति छथि।मिथिला माध्यमिकी परिक्रमा बृहत,मध्यमा आ लघु क’ तीन प्रकार रहितो कालांतर में आबि मध्यमा अर्थात माध्यमिकी परिक्रमा चलनमे रहल अछि।१५ दिवसीय परिक्रमा अंतिम दिन लघुपरिक्रमा क’ सम्पन्न होइछ।