मिथिलाक लोक मे कौआ केँ खेहारि अपन कान तकबाक आदति नीक नहि!

हेलो लालबुझक्कड़ मैथिल!
 
बाइस-तेबाइस समाचारक पेपर कटिंग केर झुनझुना बजबैत अहाँ जे पप्पूभगत बनिकय फों-फों कय रहल छी से यथार्थ बात सँ एना परिचित होउः
 
१. कहियो अमेरिकाक कोनो समाचारपत्र, कहियो फ्रांस त कहियो पाकिस्तानक, एहि सभक तुक्का वला समाचार केँ आधार मानिकय कतेको रास पेपर (आनलाईन न्यूजपोर्टल) सब पर भड़काउ आ मतदाता केँ बहकाबय वला समाचार सब एखन जा धरि चुनाव चलत ता धरि अबैत रहत। ई सब सेटिंग-गेटिंग सँ भऽ रहल अछि। कारण भारत मे एक स्थिर सरकार आ भारतक प्रगति सँ कतेको देशक छुपा सियार सब जरैत अछि। ओ सब चाहैत अछि जे महामिलावट वला कथित महागठबंधन केर पक्ष मे वोट स्वींग हो।
 
२. कतेको मीडिया एहनो अछि जे बेर-बेर हिन्दू धर्मावलम्बीक आपसी एकजूटता केँ सेहो भंग करबाक लेल जातीयता आधारित दुर्गन्ध सब पसारैत रहत – जाहि सँ कि पहिने जेकाँ फेरो भारतीय मतदाता जाति-पाति मे विभाजित भऽ अपन मतदान विभिन्न दल ओ उम्मीदवार मे विभाजय कय लियए। लेकिन २०१४ सँ जे वोट ध्रुवीकरण भेल ओ विकास, सुशासन आ छद्म धर्मनिरपेक्षताक विरोध मे समान नागरिक अधिकार – सबका साथ सबका विकास लेल होइत अछि। एकरा आब तोड़य लेल कोनो षड्यन्त्र आ ई पेपर कटिंग-फटिंग सँ काज नहि चलयवला अछि।
 
३. काल्हिये एक गोट समाचार फ्रान्सक लि मोन्डे पत्रिकाक हवाला सँ आयल जे भारतीय उद्योगपति अनिल अम्बानी केँ राफेल सौदाक तुरन्त बाद टैक्स मे भारी छूट देल गेलनि। कतेको हजार करोड़ टका केर छूट कहिकय बात केँ भरियाकय प्रकाशित कयल गेल। आर अपने लोकनि लालबुझक्कड़ मिथिलावासी अपन आदति मुताबिक ओहि के पाछाँ उड़नाय शुरू कयलहुँ… चौकीदार चोर है वला पप्पूकथ्य केँ अप्पूकथ्य मानिकय लगलहुँ ढोलहा पीटय। लेकिन सच्चाई कनिकबा काल मे फ्रान्स सरकारक आधिकारिक वक्तव्य सँ खारिज कयल गेल ताहि पर ध्यान नहि देलहुँ, ध्यान देबाक समयो कहाँ छल ढोलहा पीटैत!
 
४. जखन कोनो समाचार पढी त सब पक्षक बात ओहि मे आयल या नहि, एतेक कम सँ कम जरूर देखी। जेना, काल्हि १ः२० बजे दुपहरिया मे द हिन्दू द्वारा एतय प्रकाशित समाचार कहलक जे अनिल अम्बानीक फ्रान्स मे स्थापित कम्पनी केँ राफेल सौदा हेबाक घोषणाक तुरन्त बाद युरो १४३.७ मिलियन टैक्स छूट देल गेलनि, आर एहि सँ विपक्ष केँ मौका भेटि गेलैक जे ओ एनडीए सरकार पर लगा रहल आरोप केँ फेरो मसल्ला मारिकय पेश करय। आर फेर राति करीब ८ बजे धरि ई समाचारक खंडन सेहो कय देल गेलैक, बाकायदा फ्रान्स सरकारक वक्तव्य सँ। देखू एहि लिंक परः https://www.thehindu.com/news/international/no-political-interference-in-tax-settlement-with-reliance-firm-france/article26830677.ece
 
पहिलुका समाचार सेहो एतय देखू आ पूरा पढू लालबुझक्कड़ जीः
देखू एहि लिंक परः https://www.thehindu.com/news/national/anil-ambani-firm-got-1437-mn-tax-relief-from-france-after-rafale-announcement-le-monde-report/article26828271.ece
 
 
समाचारक मजमून पहिनहुँ सब पक्षक विचार जाहि मे फ्रान्सक पत्रिका ली मोन्डे केर रिपोर्ट, फेर अनिल अम्बानीक कम्पनीक विचार, भारतीय रक्षा मंत्रालय द्वारा देल गेल वक्तव्य आदि सेहो प्रकाशित कयल गेल छलैक। समाचार प्रकाशित करबाक ई सही रस्तो होइत छैक। मिथिलाक लालबुझक्कड़ जेकाँ नहि जे कौआ केँ खेहारब शुरू केलक नहि कि अपन कान केँ पहिने देखलक जे जगह पर अछि आ कि नहि!
 
५. अरे भाइ, अहाँक पार्टी आ राजनीतिक विचारधारा मे एनडीए केँ वोट नहि देबाक अछि से अपना जगह सही अछि। लेकिन ई की? अहाँ एक स्वच्छ आ पारदर्शी सरकार केँ झूठ-मूठ अंट-शंट बाजिकय बदनाम करब आ देशक मतदाता केँ बेवकूफ बनेबा मे सहयोग पहुँचायब… ई की? कांग्रेस त सत्तालोलुप सब दिन रहल, ओ सब भाँज भाँजत… मुदा अहाँ मिथिलावासी ई कि कय रहल छी? लालबुझक्कड़ जी?
 
कृपया ईमानदारिता सँ सत्यतथ्य प्रकाशित, प्रचारित आ प्रसारित कय धर्मक रक्षा करू हे जनकभूमिक बयानचन्द ओ हुकुमचन्द लोकनि!!
 
हरिः हरः!!