सहरसा मे दिसम्बर मे होयत तीन दिवसीय मिथिला कला एवं फिल्म महोत्सव, संस्कृति मिथिला करत आयोजन

सहरसा, १२ सितम्बर २०१८. मैथिली जिन्दाबाद!!

मिथिलाक क्रान्ति भूमि सहरसा मे पुनः एक क्रान्तिकारी आयोजनक घोषणा आइ गणेश चतुर्थीक विशेष अवसर पर कयल गेल अछि। सहरसा मे मिथिला कला साहित्य आ फिल्म महोत्सव २०१८ केर आयोजन ‘संस्कृति मिथिला’ केर अगुवाई तथा विमल सेवा संस्था, एम्बीशन कैरियर जंक्शन, युग मीडिया तथा शिम्मर फिल्म्स इंटरनेशनल केर सहयोग मे आगामी दिसम्बर २१ सँ २३ धरि आयोजित कयल जेबाक जनतब सोशल मीडिया मे पर्यन्त घोषणा कयल गेल अछि।
एहि आयोजनक परिकल्पना सेहो ‘संस्कृति मिथिला’ द्वारा विगत समय सम्पन्न विभिन्न अन्य महत्वपूर्ण आयोजनक परिकल्पक तथा मैथिली फिल्म ओ भाषा-साहित्यक क्षेत्र मे उल्लेखनीय कार्य कयनिहार चर्चित अभियन्ता किसलय कृष्ण कयलनि अछि। एहि मादे संस्कृति मिथिलाक अध्यक्ष श्री राम कुमार सिंह केर अध्यक्षता मे भेल बैसार द्वारा ई निर्णय लेल गेल अछि जे आयोजन दिसम्बर मे २१, २२ आ २३ केँ कयल जाय जाहि मे कला, साहित्य आ फिल्म क्षेत्रक भारत तथा नेपाल दुनू कातक मिथिलाक नामी-गिरामी सर्जक लोकनिक समागम होयबाक बात कहल गेल अछि।
परिकल्पक किसलय कृष्ण अपन फेसबुक सँ घोषणा करैत कहलनि अछि जे “मीमांसक मंडन मिश्र-विदुषी भारती, लोकदेव कारू खिरहरि, योगिराज लक्ष्मीनाथ गोसाईंसँ ल’ क’ आधुनिक मैथिली साहित्यक वरेण्य हस्ताक्षर राजकमल चौधरी, मायानन्द मिश्र, साकेतानन्द, महाप्रकाश आदिक धरती अछि सहरसा…. साहित्यक विभिन्न विधामे दर्जनों लेखनी एखनहुँ सक्रिय अछि एहि परिसरमे…. कला क्षेत्रमे पंचगच्छिया घरानाक मांगैन खबास, पं रघु झा आदिक गौरवशाली अतीत अछि एहि क्षेत्रकेँ… भगैत गायनक अनेको शैली… सलहेस, नैका बनिजारा, दुलरा दयाल, लोरिकायन आदिक नाचकेँ अपन छाती पर सहेजने अछि ई माटि……. त’ आउ अप्पन भाषा, कला, साहित्य आ सिनेमाक संरक्षण ओ संवर्द्धन लेल मिथिला कला साहित्य आ फिल्म महोत्सव केँ साकार रूप प्रदान करी ।”
 
प्राप्त सूचना अनुरूप एहि महोत्सवक संयोजक मैथिली भाषा-साहित्यक संग रंगकर्म आ फिल्म मे सेहो गहींर पहुँच रखनिहार बहुचर्चित चेहरा डॉ कमलमोहन चुन्नू रहता, ओतहि सहसंयोजक आयोजक संस्थाक अध्यक्ष स्वयं राम कुमार सिंह आ एम्बीशन कैरियर जंक्शन केर संचालक संदीप कश्यप रहता। आयोजन समिति मे मदनमोहन ठाकुर, शैलेन्द्र शैली, अरविन्द्र सिंह, रणविजय राज, किसलय कृष्ण, अक्षय कुमार चौधरी, डॉ रफत परवेज, राजेश वर्मा, मुख्तार आलम आदि संग विभिन्न अन्य चर्चित व्यक्तित्व रहबाक बात कहल गेल अछि। तहिना सलाहकार मे डॉ रामचैतन्य धीरज, डॉ वशीकान्त चौधरी, डॉ ललितेश मिश्र, डॉ ज्योतिवर्द्धन , डॉ महेन्द्र आदि रहता। दुनू पारक मिथिलाक सामंजस्य होयत सत्रमे, नेपाल सँ सेहो अनेकों फिल्म निर्माता आ फिल्म केर प्रदर्शन कयल जायत।