महाशिवरात्रिक पूजा क विशेष महत्व अछि सांसारिक लोक लेल

लेख प्रेषित : अखिलेश कुमार मिश्र #शिवरातिक महत्व ओना त' जतेक पावनि तिहार अछि सभक अपन अपन अलग महत्व होइत अछि। मुदा जेखनि बात शिवरातिक होइत अछि...

माटि मंगल सुभकाज के बिसरि मात्र देखावा होइ अछि जनेऊ संस्कार मे

लेख प्रेषित : रिंकु झा लेखनी के धार शीर्षक - आधुनिकता आर परंपराक बिच उपनयण संस्कार मे बढि रहल आडंबर ********* पारंपरिक विध -व्यबहार कोनो भी समाज के संस्कृति...

उपनयनक बाद कियो जनेऊ नै पहिरैत अछि आब

लेख प्रेषित : नीलम झा ‘निवेधा’ #लेखनीक_धार विषय:- "आधुनिकता आ परंपरा के बीच बढ़ैत यज्ञोपवीतमे आडम्बर " पहिने यज्ञोपवीतमे विध पर बहुत बेसी धियान रहैत छलैक। सभ शुभ-शुभक...

उपनयन के नाम पर जीवन भरिक कमाई छन मे लुटाई

लेख प्रेषित : कीर्ति नारायण झा विषय : उपनयन संस्कार मे विधि सओं बेसी देखावट पसरल अछि । विचित्र स्थिति भऽ गेलैक अछि अपन मिथिला के जे...

तीन गुणक मात्रा सात संख्या मे निहित अछि अचला माघी सप्तमी

लेख प्रेषित : ऋषभ कुमार झा माघ मास के शुक्ल पक्ष के सप्तमी दिन रथ सप्तमी व्रत मनाओल जाइत अछि | सब संख्या मे सात नंबर...

माघी सप्तमी के अनुना करबाक विधान अछि

लेख प्रेषित : सुनीता झा माघी सप्तमीक महत्व माघी सप्तमी कही वा अचला सप्तमी दुनू नाम एहि दिनक कहल जाइत अछि। वैदिक काललहिसं जाहि प्रदेशक प्रतिष्ठा,ब्रम्हग्यानक केन्द्रक रूपमे...

माघी सप्तमी केला सओं शरीर आरोग्य होइ छै

लेख प्रेषित :राजन कुमारी विषय -माघ सप्तमी के महत्व माघ मासक सप्तमी तिथि के विशेष महत्व मानल गेल अछि।ओना ते अपन मिथिला में विशेष आ श्रद्धा पूर्वक...

माघी सप्तमीके सूर्य जयंती कहल जैत अछि

  लेख प्रेषित : आभा झा लेखनीकेँ धार - माघी सप्तमीकेँ महत्व सृष्टिकेँ निर्माणक समय चारू दिशामे केवल अन्हार ही अन्हार छलैक, तखन नव ग्रहक राजा सूर्य अपन...

अहि माघक चतुर्दशी के पार्वतिक विवाह प्रस्तावित भेल छल

लेख प्रेषित : रिंकु झा लेखनी के धार शीर्षक -नरक निवारण चतुर्दशी व्रत के उत्साह मे पहिले आर आबक समय में अंतर******** ********* पावैन -तिहार कोनो भी क्षेत्र वा...

वर्ष भरिक चौबीस चतुर्दशी मेइ नरक निवारण खास अछि अछि

लेख प्रेषित : नीलम झा निवेधा #लेखनीक_धार विषय:- " नरक निवारण चतुर्दशी व्रत करबाक उत्साहमे पहिने आ आबमे कतेक अंतर आइब गेल अछि " वर्ष भरिमे २४टा...