ओ क्षण जखन श्रीराम एहि धराधाम मे अवतरित भेलाह

आध्यात्म आ मानव जीवन - प्रवीण नारायण चौधरी गृहस्थ जीवन मे सन्तान केर प्राप्तिक सुख सेहो अवर्णनीय अछि। आजुक समय मे बेटा आ बेटी मे कोनो...

मैथिली सुन्दरकाण्डः श्री रामजीक वानर सेना संग चलिकय समुद्र तट पर पहुँचब

मैथिली सुन्दरकाण्डः श्री तुलसीदासजी रचित श्रीरामचरितमानस केर सुन्दरकाण्डक मैथिली अनुवाद श्री रामजीक वानर सेना संग चलिकय समुद्र तट पर पहुँचब दोहा : कपिपति बेगि बजेला आयल मुख्यक...

राजर्षि सुयज्ञ केर राधा-माधव भक्ति

स्वाध्यायः राजर्षि सुयज्ञ केर राधा-माधव भक्ति - श्री जयदीप सिंह (मैथिली अनुवादः प्रवीण नारायण चौधरी)   ब्रह्मवैवर्त्तपुराणक अनुसार स्वायम्भु मनु केर वंश मे उत्पन्न महाराज सुयज्ञ सप्तद्विपती...

राम सँ पैघ राम केर नाम – तुलसीदास जी केर अति सुन्दर आ मननीय...

स्वाध्यायः रामचरितमानस सँ सीख - १४ आजुक १४म भाग केर रामचरितमानस सँ सीख शृंखला मे बड पैघ महत्वपूर्ण बात सोझाँ आयल अछि। कतेको जगह सुनैत...

माध्वसंमत-द्वैतवेदान्तवादः – पंडित रुद्रधर झा द्वारा वेद वर्णित विज्ञान पर महत्वपूर्ण प्रकाश

स्वाध्याय माध्वसंमत-द्वैतवेदान्तवादः - पंडित रुद्रधर झा (अनुवादः प्रवीण नारायण चौधरी)   श्रीमन्मध्वमते हरिः परतरः सत्यं जगत्तत्त्वतो- भेदो जीवगणा हरेरनुचरा नीचोच्चभावं गतः। मुक्तिर्नैजसुखानुभूतिरमला भक्तिश्च तत्साधनं ह्यक्षादित्रितयं प्रमाणमखिलाम्नायैकवेद्यो हरिः॥   १. स्वतन्त्र चेतन - सर्वज्ञ-अचिन्त्यशक्तिसम्पन्न...

विदुर-नीति केर ओ महावाक्य ‘शठे शाठ्यं समाचरेत’ पर चिदानंद स्वामीजीक मननीय विचार

दर्शन-विचार - श्री स्वामी चिन्दानंदजी सरस्वती (अनुवादः प्रवीण नारायण चौधरी) महाराजा धृतराष्ट्र केर लघु भ्राता नीति केर महापण्डित विदुर द्वारा अपन नीति वाक्य (विदुर-नीति) मे बड़ा...

सुन्दरकाण्ड मैथिली मे – तुलसीकृत रामचरितमानस केर मैथिली स्वरूप

सुंदरकाण्ड सुंदरकाण्ड मे हनुमानजी लंका लेल प्रस्थान, लंका दहन सँ लंका सँ वापसी तक केर घटनाक्रम अबैत अछि। नीचाँ सुंदरकाण्ड सँ जुड़ल घटनाक्रम केर विषय...

संतोष पर संस्कृत केर प्रेरणादायी श्लोक मैथिली भावार्थ सहित

स्वाध्याय आलेख - प्रवीण नारायण चौधरी हमरा सभक समय मे प्राथमिक कक्षा मे संस्कृत केर पढाई उपलब्ध छल। संस्कृतक श्लोक सभक अर्थ सदिखन नीक आ प्रेरणादायी...

मैथिली सुन्दरकाण्डः लंका वर्णन, लंकिनी वध, लंका मे प्रवेश

मैथिली सुन्दरकाण्डः श्री तुलसीदासजी रचित श्रीरामचरितमानस केर सुन्दकाण्डक मैथिली अनुवाद लंका वर्णन, लंकिनी वध, लंका मे प्रवेश नाना वृक्ष फल फूल सोहाए। खग मृग बृंद देखि...

मैथिली सुन्दरकाण्डः हनुमान्‌जी केर अशोक वाटिका मे सीताजी केँ देखिकय दुःखी होयब आर रावण...

मैथिली सुन्दरकाण्डः श्री तुलसीदासजी रचित श्रीरामचरितमानस केर सुन्दरकाण्डक मैथिली अनुवाद हनुमान्‌जी केर अशोक वाटिका मे सीताजी केँ देखिकय दुःखी होयब आर रावण केर सीताजी केँ...