“विश्वास – जीवन के सबसँ पैघ आधार”

-- कृति नारायण झा।              एक गोटे माता रानी केँ परम भक्त छल। ओ बहुत प्रेम भाव सँ माता...

रामचरितमानस मोतीः मेघनाद यज्ञ विध्वंस, युद्ध आर मेघनाद उद्धार

स्वाध्याय - प्रवीण नारायण चौधरी रामचरितमानस मोती मेघनाद यज्ञ विध्वंस, युद्ध आर मेघनाद उद्धार १. मेघनादक मूर्च्छा हंटल आ पिता (रावण) केँ सोझाँ देखलक त बड़ा लजा गेल।...

मुक्त मुक्त मिथिला दहेज मुक्त चाही

कविता - पवन झा 'अग्निवाण' @ गुमनाम फरिश्ता मुक्त मुक्त मिथिला दहेज मुक्त चाही मुक्त मुक्त मिथिला दहेज मुक्त चाही मैथिल के धर्म एहि भांति हम निबाही बेटा और...

मिथिलाक लोक-पाबैनः सामा चकेबा

सामा चकेबा – विलुप्त होइत पाबैन – करुणा झा मिथिला केर संस्कृति  तऽ अनुपम अछिये संगहि मिथिलाक पावनि त्योहार लोक गीत, संगित, कला, आलोक पर्व सेहो अतूलनीय...

बुढियाक फूइस

नैतिक कथा एकटा चीर-परिचित कथनी जे खूब चलैत अछि मिथिला मे - 'बुढियाक फूइस', ई वास्तव मे एकटा नैतिक कथा थीक। गाम-घर मे बड़-बुजुर्ग माय-पितियैन...

“मिथिलाक सुप्रसिद्ध पाबनि – मधुश्रावणी”

-- आभा झा।          " मधुश्रावणी" मधुश्रावणी पाबैन अपन मिथिलाक मुख्य पाबैन अछि।नवविवाहिता वर कनियाँक ई पाबैन प्रेमरस सँ भरल रहैत...

“मिथिलाक लोकगीतकेँ सहेजैत आ सुरक्षित रखैत स्त्री-कंठ”

-- कीर्ति नारायण झा        मिथिलाक लोकगीत के सहेजैत आ सुरक्षित रखैत स्त्री -कंठ - मिथिलाक लोक गीत अर्थात सामान्य लोक द्वारा...

रामचरितमानस मोतीः शरद ऋतुक वर्णन

स्वाध्याय - प्रवीण नारायण चौधरी रामचरितमानस मोती शरद ऋतुक वर्णन (पूर्व अध्याय मे वर्षा ऋतुक वर्णन भगवान् राम केर श्रीमुख सँ भेल आ तकर बाद.....) १. हे लक्ष्मण! देखू,...

“खरमाससँ जुड़ल रोचक कथा”

-- भावेश चौधरी।                                'खरमास" दू शब्द 'खर 'आ 'मास'...

शीतल वेड्स मोहन – एक आदर्श विवाह (मैथिली कथा)

कथा - प्रीति मिश्र, पटना शीतल वेड्स मोहन - एक आदर्श विवाह दृश्य १ ई खिस्सा थिक मॉडर्न मिथिला के। आइ-काल्हि बेटी सब बाहर जा-जा उच्च शिक्षा हासिल...