मिथिलाके प्रसिद्ध गायक: नन्द भाई

286

nanda kishoreनंदशंकर झा मूलतः सहरसा जिला चर्चित गाम बनगाँव’क रहनिहार नंदशंकर झा तकरीबन चारि दशक सं मैथिली’क राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय मंच पर प्रतिनिधि स्वर केर रूप में जानल जाइत छथि । कहियो मैथिली मंच’क चर्चित जोड़ी नवल-नंद’क शब्द नवल जी रहैत छलाह त’ सुर नंदजी आ जोड़ी परम्परा’क अवसान’क बाद आइ धरि ओ नंदजी नाम सं मैथिली मंचक चर्चित गायक बनल छथि। ताम-झाम सं अपना कें सतत दूर राखय वला नंदजी मैथिली साहित्य आ संगीत दूनू विषय में स्नातकोत्तर छथि ! भारत आ नेपाल’क क़रीब 2000 सं बैसी मंच पर उपस्थिति दर्ज करौनि छथि । हिनकर “अमोल” नामक कैसेट आ तकर गीत सभ 1.जतय गुदरी पहिरि सिया आँगन निपय….2.भइया सामा फोड़े लेल जरूर आबिह…….3.दिल्ली के देखिके दिमाग भेल होल गे….4.छोट-छोट रोड़ी गदैय’…. बहुत प्रसिद्ध भेल छल। मैथिली फ़िल्म “हमर मिथिला” में पूनम मिश्रा संग हिनक गायन चर्चित रहल । गोस्वामी लक्ष्मीनाथ भजन केर कैसेट कें अपार ख्याति भेतलनि ! सम्प्रति मैथिली गीत-गायन केर नाव नाव प्रयोग में लागल रहैत छथि

-जय हो बन्गाम