“अहि मासमे कएल गेल पुण्य कर्म बहुत फलदाई होइत अछि”

-- विवेकी झा।                                पूस आ चैत माह जैमे कोनो...

“खरमाससँ जुड़ल रोचक कथा”

-- भावेश चौधरी।                                'खरमास" दू शब्द 'खर 'आ 'मास'...

” पूस के खरमास कहबाक पाछू की कारण…”

- आभा झा।                          हिंदू धर्म में खरमासक विशेष महत्व मानल गेल अछि।हर...

“मिथिलामे रोजगार”

- मनीषा झा।                      बेरोज़गारी सँ त्रस्त देश अछि, ताहू मे मिथिला के हालात खराब, सब बेर...

“भ्रुण हत्या महापाप अछि”

- कामिनी मिश्रा।                    हमहु अहा कऽ अंश छि माँ , नै मारू हमरा कोखिए मऽ , अई...

“भक्त और भगवान”

- कृति नारायण झा।                  "कखन हरब दुःख मोर हे भोलानाथ।दुखहि जनम लेल दुख हि गबाओल सुख...

“युवा पीढ़ीमे दहेज विरोधी भावना जागृत होयब अति आवश्यक”

- विवेकी झा।                          युवा पीढ़ी अगर जागत, तखने दहेज समाज सँ भागत ।। हे...

“कलम के महत्त्वक उपर लिखल सुन्दर कविता”

- लवली झा।                    प्रथम गजानन लीखल पोथी टुटल कतेको कलमक टोटी तखन तोड़ी निज दंत गणेशा पूरा केल...

“पान एलैये, मखान एलैये, धिया के बियाहक समान एलैये”

-- कृति नारायण झा।                      मिथिलाक लोकप्रिय गीत "पान एलैये मखान एलैये धिया के बियाह...

“बिन भार-भरियाक केहेन शोभा!”

-- मंजूषा झा।                        भार उठाके आनय बला भेल भरिया । रंग विरंगक पकवान...