सिनेहिया बिसरि बैसल अछि गाम केर लेखक सम्बन्ध मे

विचार - शंकर कुमार (फेसबुक मार्फत) परमप्रिय भोली भाई एकटा साहित्यिक जिज्ञासा उठाओल जे " सिनेहिया बिसरि बैसल अछि गाम " गीत केर लेखक के ?...

अर्थक महिमा अपरम्पार

अर्थक महिमा अपरंपार - मनीष झा, द्वालख (मधुबनी) अर्थक जुग छै, अर्थ सँ सब किछु अर्थ'हि सँ सबहक पहिचान बिनु अर्थक सब अर्थहीन अछि सऊँसे अर्थहि के गुणगान ॥ अर्थ पुरोहित, अर्थ...

भारत दर्शनः मैथिली मे भारत देश केर वर्णन – कवि ललित

पुस्तक परिचयः भारत दर्शन मैथिली जिन्दाबाद पर पहिने सँ परिचय कराओल गेला स्रष्टा - मैथिली एवं हिन्दीक संग-संग असमिया भाषा मे सृजन श्रृंगार कएनिहार व्यक्तित्व...

मातृभाषा मैथिली मे एक सँ बढिकय एक रचना अछि

संकलित मैथिली पुस्तककेर सूची: जानकारी एवं पढबाक अनुरोध सहित मैथिली पुस्तक सूची S.No./Name of Book/Prices Brief Introduction १. विद्यापति गीत संचय - २००।०० विद्यापति द्वारा रचित १५००...

निर्धन के बेटी बनि जग मे सहब कतेक अपमान यौ

प्रसिद्ध गीत - जेकर मर्म हृदय केँ छूबि जाएत अछि, दहेज मुक्त समाज निर्माणार्थ एहि गीत केँ हम सब बेर-बेर मनन करी। आइ एक...

Finding Mithila Between India’s Centre And Periphery

FINDING MITHILA BETWEEN INDIA’S CENTRE AND PERIPHERY ALAKH NIRANJAN SINGH* & PRABHAKAR SINGH** The linguistic region of Mithila in north Bihar has been one of India’s...

उगनाक आदर्श बियाह

कथा - प्रवीण नारायण चौधरी गाम मे उगनाक बाबु एगो मन्दिर पर भगवानक सेवा मे लागल छलाह। ओ कोनो बड पैघ विद्वान् पंडित छलाह से बात...

देखि अहाँक रूप, कि कहू, कि गजल लिखू!!

देखि अहाँक रूप, कि कहू, कि गजल लिखू!! - रोशन झा, स्तम्भकार एवं पत्रकार, जनकपुर सँ अपन मित्र स्नेहा झा केँ समर्पित करैत.... इश्क मे लोक...

हरिमोहन झा – मैथिलीक प्रख्यात लेखकक ई ‘पाँच पत्र’

हरिमोहन झा लिखित पाँच पत्र पाँचपत्र (हरिमोहन झा) (१) दड़िभंगा १-१-१९ प्रियतमे अहाँक लिखल चारि पाँती चारि सएबेर पढ़लहुँ तथापि तृप्ति नहि भेल. आचार्यक परीक्षा समीप अछि किन्तु ग्रन्थमे कनेको...

अपन अपराधक सजायः बाल कथा

अपन अपराधक सजाय (बाल-अपराध बोधक एक प्रसंग... - प्रवीण नारायण चौधरी) अपन बाल्यकाल केर कथा मोन पड़ैत अछि..... सच देखल जाय तऽ आजुक समय ओहि उम्र...